Sunday, Jun 13, 2021
-->
tension along assam mizoram border, many injured after violent clash rkdsnt

हिंसक झड़प के बाद असम-मिजोरम सीमा पर तनाव, कई लोग घायल

  • Updated on 10/18/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। असम (Assam) और मिजोरम (Mizoram) के लोगों के बीच हुई हिंसक झड़प में कई लोगों के घायल होने के बाद दोनों राज्यों की सीमा पर तनाव की स्थिति बन गई है। आइजोल में एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि अब इलाके में स्थिति नियंत्रण में है, जो कि मिजोरम के कोलासिब और असम के कछार जिले में है। अधिकारी ने कहा कि मिजोरम सरकार ने ङ्क्षहसा प्रभावित क्षेत्रों में भारतीय रिजर्व वाहिनी को तैनात किया है, जोकि मिजोरम के वैरेंगते गांव के पास और असम के लैलापुर अंतर्गत आते हैं। 

चिदंबरम ने बाइडेन की टिप्पणी को लेकर मप्र, बिहार के वोटरों से की खास अपील

मिजोरम के कोलासिब जिले का वैरेंगते गांव राज्य का उत्तरी हिस्सा है, जिससे गुजरता राष्ट्रीय राजमार्ग-306 असम को इस राज्य से जोडता है। वहीं, असम के कछार जिले का लैलापुर इसका सबसे करीबी गांव है। कोलासिब जिले के पुलिस उपायुक्त एच लल्थलंगलियाना ने‘पीटीआई-भाषा’से कहा कि शनिवार शाम को लाठी-डंडे लिए असम के कुछ लोगों ने सीमावर्ती गांव के बाहरी क्षेत्र में स्थित ऑटो रिक्शा स्टैंड के पास कथित तौर पर एक समूह पर पथराव किया, जिसके बाद वैरेंगते गांव के निवासी भारी संख्या में एकत्र हो गए। 

जम्मू-कश्मीर विशेष दर्जे को लेकर कांग्रेस भी नेशनल कांफ्रेस, पीडीपी के साथ आई

उन्होंने कहा कि इलाके में लागू निषेधाज्ञा के बावजूद वैरेंगते गांव की गुस्साई भीड ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर करीब 20 अस्थायी झोपडियों और दुकानों को आग लगा दी, जोकि लैलापुर गांव के लोगों की थीं। पुलिस उपायुक्त ने कहा कि घंटों तक चली इस हिंसक झडप में मिजोरम के चार लोगों समेत कई लोग घायल हो गए। उन्होंने कहा कि झडप में घायल एक व्यक्ति को कोलासिब जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसके में गगर्दन में गहरा घाव होने के कारण उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। वहीं, तीन लोगों का इलाज वैरेंगते गांव के जनस्वास्थ्य केंद्र में किया गया। 

धर्म को राजनीति, सरकार से अलग किए बगैर धर्म निरपेक्षता नहीं :येचुरी

पुलिस ने कहा कि एक घायल को असम के सिलचर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस बीच, असम के वन मंत्री एवं स्थानीय विधायक परिमल शुक्ला बैद्य ने बताया कि क्षेत्र में इस तरह की घटनाएं लगभग हर साल होती हैं क्योंकि दोनों ही तरफ के लोग अवैध तरीके से पेड काटते हैं। उन्होंने कहा,‘’मैं इस मामले को देखूंगा।‘‘

कोरोना संकट के बीच वैष्णो देवी मंदिर में नवरात्रि उत्सव की धूम

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.