Sunday, Dec 04, 2022
-->
the-case-of-death-in-police-custody-could-not-open-the-secret

पुलिस कस्टडी में मौत का नहीं खुल सका रहस्य, बिसरा रखा सुरक्षित, रिपोर्ट का इंतजार

  • Updated on 7/16/2018

देहरादून/ब्यूरो। पटेलनगर बाजार चौकी में जय माटा की हुई संदिग्ध मौत का रहस्य पोस्टमार्टम के बाद भी नहीं खुल सका। पोस्टमार्टम के बाद बिसरा सुरक्षित रखा गया है, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजह का पता चल सकेगा। 

बताया जा रहा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शरीर पर किसी तरह का कोई निशान नहीं मिला है। शनिवार शाम को पुलिस के होश उस वक्त उड़ गए थे, जब हिरासत में लिए गये 38 साल के जय माटा की मौत हो गई थी। 

नर्सिंग होम में बच्चा बदलने के नहीं मिले सबूत, कब्र से नवजात का शव कहां गया, जांच जारी

शराब पीकर 100 नंबर पर बार बार कॉल करने के आरोप में पुलिस जय माटा को बाजार चौक लेकर आई थी। शाम के वक्त जय माटा बाथरूम गया, लेकिन काफी देर तक जब बाहर नहीं निकला तो पुलिस ने बाथरूम का दरवाजा तोड़ा। जय माटा बाथरूम में जमीन पर पड़ा था। कमीज उतारकर दरवाजे और गर्दन में बांधी हुई थी। 

पुलिस ने जय माटा को दून हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने जय माटा को मृतक घोषित कर दिया। परिजन भी बाजार चौकी पहुंचे और बताया कि जय माटा की शादी नहीं हुई थी। निरंजनपुर मंडी में काम करके अपना गुजर बसर करता था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घटना के बाद कई सवाल खड़े हो गए थे। 

उत्तराखंड में बंजर हो चुकी एक लाख हेक्टेयर कृषि भूमि, कैसे दोगुनी होगी किसानों की कमाई

हार्ट अटैक या फिर आत्महत्या से भी जोड़ कर देखा जा रहा था। एसपी सिटी प्रदीप राय ने बताया कि पोस्मार्टम में मौत की वजह साफ नहीं हो सकी है। बिसरा सुरक्षित रखा गया है। जिसकी रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की सही वजह साफ हो पाएगी। हालांकि, पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.