Friday, May 07, 2021
-->
the era of bad relationships begins nepal government will deploy army on indian border albsnt

खराब रिश्तों का दौर शुरु! नेपाल सरकार करेगी भारतीय बॉर्डर पर सेना तैनात

  • Updated on 5/31/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत (India) और नेपाल के बीच हमेशा से संबंध रोटी और बेटी का रहा है। लेकिन हाल के दिनों में जब से ओली सरकार सत्ता में काबिज हुई है,तब से भारत के साथ रिश्तों में तल्खी समय-समय पर देखने को मिला है। इसी कड़ी में पहले जहां नेपाली संसद में नक्शा विवाद को लेकर संविधान संशोधन विधेयक पेश किया गया है। तो वहीं अब भारतीय सीमा से सटे बॉर्डर पर पहली बार नेपाली सेना तैनात किया जाएगा।

कोरोना संकट: अमेरिका में कंट्रोल से बाहर हुई स्थिति! अब तक मरने वालों की संख्या पहुंचीं 1.4 लाख पार

बता दें कि इस बाबत प्रधानमंत्री कार्यालय के सचिव नारायण बिडारी ने कहा कि सरकार ने इसके अलावा सिर्फ 20 गेट पर ही आने-जाने की इजाजत देने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने बताया है कि इसके अलावा सभी एंट्री प्वांइट पर तत्काल प्रतिबंध लगा दिया गया है। भारत के साथ नेपाल के 22 जिले सीमा से जुड़ने के साथ-साथ काफी आत्मिक संबंध भी दोनों के बीच दशकों से रहे है।  भारत और नेपाल के बीच 1700 किमी की खुली सीमाएं है। जहां से बिना रोक-टोक के दोनों देशों के आमजनों से लेकर व्यापारी तक रोज आते-जाते है। लेकिन इस तरह के प्रतिबंध लागू होने से पहली बार इस पर निश्चित रुप से असर पड़ना स्वाभाविक है।

Good News: भारत के लिए खुशखबरी, अगले माह मिल सकती हैं UNSC में अस्थायी सीट

हालांकि इससे पहले नेपाल के तरफ से बॉर्डर की निगरानी सशस्त्र प्रहरी बल के जिम्मे था। जबकि भारत के तरफ से एसएसबी निगरानी करती रही है। लेकिन पहली बार नेपाल सरकार ने भारत के साथ सख्ती दिखाते हुए यह फैसला किया है कि सीधे सेना की सीमाओं पर तैनाती की जाएगी। इस बीच भारत के साथ नेपाल के 1950 के संधि को न मानने की बात भी नेपाल सरकार में अंदरखाने में उठती रहती है।


यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.