The finance minister reached the meeting of the RBI board the Governor will also be present

RBI बोर्ड की बैठक में हिस्सा लेने पहुंची वित्त मंत्री, गवर्नर भी रहेंगे उपस्थित

  • Updated on 7/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बजट में राजकोषिय घाटे ( fiscal deficit) कम करने को लेकर सरकार के प्रयासों समेत अनेक मुद्दों पर आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (nirmala sitaramana) रिजर्व बैंक की महत्वपूर्ण बैठक की है। वित्त मंत्री (finance minister) ने भरोसा जताया है कि राजकोषीय घाटा को जीडीपी के 3.3 प्रतिशत रखने में सफलता मिलेगी।

मोदी सरकार 2.0 के पहले बजट ने शेयर बाजार में निवेशकों को लगाई करारी चपत....

वित्त मंत्री की इस बैठक में रिजर्व बैंक के केंद्रीय निदेशक मंडल ने हिस्सा लिया। जिसमें आरबीआई (RBI) गवर्नर शक्तिकांत दास और वित्त सचिव सुभाष चंद्र उपस्थित हुए। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस अवसर पर कहा कि रिजर्व बैंक सॉवरेन बांड को जारी करने पर विचार कर रहा है। जिसके लिए सरकार के साथ विचार विमर्श किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि ब्याज दर में कटौती के लाभ के प्रसार में अब कम समय लग रहा है।

वैश्विक बाजारों में बिकवाली के चलते सेंसेक्स में भारी गिरावट के साथ बंद हुआ

केंद्र सरकार ने 200-21 तक राजकोषीय घाटे को जीडीपी के 3 प्रतिशत पर रखने का लक्ष्य रखा है। हालांकि फरवरी में पेश किये अंतरिम बजट में राजकोषीय घाटा 3.4 प्रतिशत था। 5 जुलाई को पेश बजट में सरकार ने 6,000 करोड़ रुपया अधिक राजस्व मिलने का अनुमान लगाया है। जिस कारण वित्त मंत्री ने भरोसा जताया है कि 2019-20 में राजकोषीय घाटा 3.3 प्रतिशत पर रहने का अनुमान है।  
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.