Thursday, Apr 15, 2021
-->
the-first-case-of-corona-virus-was-reported-in-the-us-in-december-sohsnt

अमेरिका: दिसंबर में ही दस्तक दे चुका था कोरोना का कहर, अध्ययन में हुआ खुलासा

  • Updated on 12/3/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दुनियाभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर लगातार जारी है। कोविड-19 के सबसे अधिक मामलों में अमेरिका (America) अभी भी नंबर एक पर बना हुआ है। ऐसे में यूएसए की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि देश में संभवत: बीते साल 13 दिसंबर से 19 दिसंबर के बीच ही कोरोना वायरस संक्रमण के मामले आने शुरू हो गए थे। दरअसल, इस अध्ययन के तहत 'अमेरिका रेड क्रॉस' द्वारा एकत्रित रक्तदान के सैंपल्स का आकलन किया गया है। अमेरिका में कोरोना के पहले मामले की पुष्टि 19 जनवरी, 2020 को हुई थी।

फाइजर के कोरोना टीका को मंजूरी देने वाला ब्रिटेन पहला देश, भारत को नहीं मिलेगी वैक्सिन

वैज्ञानिकों ने कही ये बात
अमेरिका में रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (CDC) के श्रीधर वी वासवराजू और अन्य वैज्ञानिकों ने बताया कि 7,389 में से 106 नमूनों में कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ प्रतिक्रियाशील एंडीबॉडी पाई गई हैं। ‘क्लिनिकल इन्फेक्शस डिजीजेज’ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, विशेष रूप से 84 नमूनों में सार्स-सीओवी-2 वायरस के स्पाइक प्रोटीन को निष्क्रिय करने की गतिविधि पाई गई।

भारत में अंतिम दौर में कोरोना वैक्सीन Sputnik V का ट्रायल, प्रोडक्शन जल्द होगा शुरू

अमेरिका के पश्चिमी हिस्सों पहले पहुंचा कोरोना
इस रिपोर्ट को लेकर अनुसंधानकर्ताओं ने लिखा, 'इन एंटीबॉडी की मौजूदगी इस बात की ओर इशारा करती है कि सार्स-सीओवी-2 का संक्रमण अमेरिका के पश्चिमी हिस्सों में संभवत: पहले ही पहुंच गया था, जबकि इसका पता बाद में चला या फिर जनसंख्या के एक छोटे हिस्से में सार्स-सीओवी-2 के खिलाफ पहले से ही एंटीबॉडी थे।’

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा- कोरोना वायरस की वैक्सीन पूरे देश के लिए नहीं

अध्ययन में लिखी ये बात
उन्होंने अध्ययन में आगे लिखा, 'अपनी इस शंका को दूर करने के लिए वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस की ‘एस1 सबयूनिट’ के संबंध में नमूनों की और अधिक विशिष्ट जांच की है। वैज्ञानिकों ने कहा, 'सार्स-सीओवी-2 का पता लगाने के लिए एस1 सबयूनिट पूरे स्पाइक प्रोटीन की तुलना में अधिक विशिष्ट एंटीजन है।'

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.