Wednesday, Jun 19, 2019

चुनावों का पहला चरण आज, तरह-तरह की दिलचस्पियां जारी

  • Updated on 4/11/2019

आम चुनावों का पहला चरण 11 अप्रैल से शुरू होने जा रहा है जब 91 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा। इस दौरान अनेक दिलचस्प बातें देखने में आ रही हैं जिनमें से चंद निम्न में दर्ज हैं :

महाराष्ट्र के अनेक हिस्से पानी की भारी कमी का शिकार हैं। गत दिवस जब महाराष्टï्र भाजपा अध्यक्ष राव साहब दानवे औरंगाबाद में भाषण दे रहे थे तभी शोर मच गया कि नलों में पानी आ गया है। बस फिर क्या था, इकट्ठे हुए अधिकांश लोग भाषण सुनना छोड़ पानी भरने चले गए।

इससे मिलती-जुलती घटना आंध्र प्रदेश में हुई। वहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भाषण शुरू होने के कुछ ही समय के भीतर उपस्थित जनसमूह घरों को चल दिया। 

दरअसल योगी आदित्यनाथ का भाषण ङ्क्षहदी में था जो वहां उपस्थित लोगों की समझ से बाहर था। भाजपा कार्यकत्र्ताओं ने जब लोगों को रोकने की कोशिश की तो उन्होंने कहा कि जब हमारे पल्ले ही कुछ नहीं पड़ रहा तो हम यहां रुक कर क्या करेंगे।

कोलकाता के कुछ क्षेत्रों में अच्छी-खासी संख्या चीनी मूल के लोगों की है। लिहाजा वहां चीनी लिपि में भी तृणमूल कांग्रेस के विज्ञापन लगाए गए हैं तथा ममता बनर्जी प्रचार के लिए अपने भाषणों में चीनी, संथाली और तेलगू भाषाओं के शब्दों का भी इस्तेमाल कर रही हैं।

राहुल की अमेठी के 13 गांवों के मतदाताओं ने चुनावों का बहिष्कार करने का निर्णय किया है क्योंकिवे राजनीतिज्ञों के झूठे वायदों से तंग आ गए हैं। वर्षों से उनकी अनेक महत्वपूर्ण मांगें पूरी नहीं की गईं।

मतदाताओं को मतदान हेतु प्रोत्साहित करने के लिए देशभर में चुङ्क्षनदा पैट्रोल पम्प मालिकों द्वारा मतदान के दिन उंगली पर मतदान का निशान दिखाने पर पैट्रोल और डीजल की कीमत में 50 पैसे प्रति लीटर छूट देने का निर्णय किया गया है।

कुछ बिन बुलाए मेहमानों के आने से देश में अनेक स्थानों पर एकाएक शादी-विवाह के समारोहों, धार्मिक आयोजनों और अन्य सभा-समारोहों के साथ-साथ शोक सभाओं तक की ‘रौनक’ बढऩे लगी है। ये हैं चुनावी उम्मीदवार या उनके एजैंट जो संबंधित लोगों को बधाई देने या शोक व्यक्त करने के बहाने उनसे वोट मांग रहे हैं।

नीतीश ने कहा है कि ‘‘अब बिजली का जमाना है।  हर घर में बिजली आ गई है इसलिए अब लालटेन (लालू यादव की पार्टी राजद का चुनाव निशान) की जरूरत नहीं है। लोगों को भरपूर बिजली मिल रही है।’’
जवाब में लालू बोले, ‘‘नीतीश कुमार की पार्टी जद (यू) के चुनाव चिन्ह ‘तीर’ का प्रचलन तो द्वापर युग में ही समाप्त हो गया था। अत: अब इसकी क्या जरूरत है। बिजली जाने पर अब भी लालटेन जलानी ही पड़ती है।’’

स्मृति ईरानी ने कहा, ‘‘जो खुद साइकिल पर चल रहे हैं वे मैट्रो का सपना नहीं देख सकते और हाथी पर सवार एयरपोर्ट की बात नहीं सोच सकते। हाथी जब साइकिल पर सवार होगा तो साइकिल पंक्चर हो जाएगी।’’

स्मृति ईरानी पर कांग्रेस के सहयोगी दल पी.आर.पी. के नेता जयदीप कवाड़े ने टिप्पणी करते हुए कहा, ‘‘वह अपने माथे पर बड़ी ङ्क्षबदी लगाती हैं। मुझे किसी ने बताया है कि लगातार पति बदलने वाली महिला की ङ्क्षबदी भी बढ़ती जाती है।’’ इस बयान के लिए कवाड़े को गिरफ्तार कर लिया गया परंतु बाद में जमानत पर छोड़ भी दिया गया। 

लालू प्रसाद यादव के कुनबे में फूट पड़ गई है। बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने छोटे भाई तेजस्वी से नाराज होकर अपना अलग ‘लालू-राबड़ी मोर्चा’ बना कर बिहार में 2 सीटों पर उम्मीदवार खड़े करने का फैसला किया है  

आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला यौवन पर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस पर पाकिस्तान का ढोल पीटने का आरोप लगाया है तो ममता बनर्जी ने उन पर व्यक्तिगत आक्षेप करते हुए कहा है कि ‘‘मोदी दंगों और नरसंहार के माध्यम से राजनीति में आए हैं। वह फासीवाद के राजा हैं अगर हिटलर जिंदा होता तो मोदी की गतिविधियां देख कर आत्महत्या कर लेता।’’

चुनावों का पहला चरण शुरू होने तक कुछ इस प्रकार की दिलचस्पियां देखने को मिली हैं।   —विजय कुमार                                     

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.