Thursday, Feb 02, 2023
-->
the-game-of-gift-pack-should-not-be-costly

कहीं महंगा ना पड़ जाए गिफ्ट पैक का खेल

  • Updated on 10/17/2022

नई दिल्ली। अनामिका सिंह। दीवाली के आगमन से पहले ही गिफ्ट लेने-देने का कार्यक्रम भी करीब एक सप्ताह पहले से ही शुरू हो जाता है। परिजनों से लेकर रिश्तेदारों, दोस्तों व बड़ी कपंनियां अपने अधीस्थ काम करने वाले कर्मचारियों को भी  दीवाली के रूप में गिफ्ट पैक देना ज्यादा पसंद करती हैं। वजह सस्ते दामों में व कई प्रकार की छूट के साथ गिफ्ट पैक्स में कई वेरायटी भी उपलब्ध रहती है। लेकिन कई बार ये गिफ्ट का पैक सस्ते की बजाय काफी महंगा पड़ जाता है और इज्जत भी खराब हो जाती है। ऐसे में गिफ्ट आइटम के ट्रेंड और गिफ्ट आइटम को खरीदते वक्त किन बातों का रखें ध्यान इस बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।

देखें सबसे पहले एक्सपायरी डेट
जब भी आप किसी भी गिफ्ट पैक आइटम को खरीदने जाते हैं तो सबसे पहले चैक करें कि गिफ्ट पैक में रखीं गईं खाद्य वस्तुओं की एक्सापयरी डेट क्या है। अधिकतर कंपनियां फेस्टिव सीजन का फायदा उठाते हुए अपना पुराना व बचा हुआ माल कुछ प्रतिशत छूट व प्रलोभन देकर आसानी से बेंच देती हैं लेकिन जब तक आपको पता चलता है, तब तक काफी देर हो चुकी होती है। ऐसे में आप खुद को काफी ठगा हुआ महसूस करते हैं। तो इसलिए जरूरी है कि सस्ता नहीं बल्कि अच्छा चुनें।

एक के साथ एक या दो फ्री के झांसे से रहे दूर
फेस्टिवल सीजन में कंपनियां आपको अपने पास खींचने के लिए एक के साथ एक फ्री या एक के साथ दो फ्री तक का ऑफर दे रहीं हैं। ऐसे में आपको स्व:विवेक का पूरी तरह पालन करना होगा। मार्केंटिग के इस खेल से अगर आप खुद को बचा लेते हैं तो अपने प्रियजन को क्वालिटी गिफ्ट दीवाली पर आप दें पाएंगे। दरअसल ये वो आइटम होते हैं जिनकी मार्केट में अमूमन दिनों में मांग काफी कम होती है। ऐसे में कपंनियां अपने घाटे को किसी तरह पूरा करती हैं और ये उनका सबसे सक्सेफुल प्लॉन साबित होता है।
फेस्टिव सीजन में भा रहे हैं सूखे मेवे, खारी बावली के ड्राईफ्रूट्स मार्केट में लौटी रौनक

मिष्ठान में देखें डिब्बा खोलने के बाद की प्रेजर्विंग टाइमिंग 
दीवाली में मीठा देना व मीठा खाना दोनों ही काफी अहमियत रखता है। इसे ध्यान में रखते हुए बड़ी-बड़ी कंपनियां रसगुल्ला, गुलाबजामुन, रसमलाई, छेनामुरकी, मिल्क केक, मैसूरपाक सहित विभिन्न तरह की मिठाईयों के गिफ्ट पैक तैयार करते हैं। ऐसे में जब आप अपने किसी नजदीकी मिठाई के शौकीन के लिए मिठाई की कई वेरायटी के साथ गिफ्ट पैक खरीद रहे हैं तो ये जरूर चैक करें कि पैक की अंतिम तिथि के साथ ही डिब्बा खोलने के बाद प्रेजर्विंग टाइमिंग कितनी है। कुछ मिठाईयों की 56 तो किसी की 48 घंटें की मियाद होती है।

फ्लेवर्ड मिल्क, जूस व ठंडई में देखें एक्सपायरी मंथ
इस समय मार्केट में गिफ्ट आइटम में फ्लेवर्ड मिल्क व जूस के टेटरापैक के साथ छोटी बोतल कई कंपनियां लेकर आईं हैं। इसके अलावा ठंडई की भी कई वेरायटी गिफ्ट पैक में मौजूद है। जिनमें शाही केवड़ा, गुलाब, केसर-पिस्ता, आम, ड्राईनट इत्यादि फ्लेवर में खूब बिक रही है। लेकिन इन्हें खरीदते वक्त ये देखें कि इसकी एक्सपायरी का महीना क्या है। क्योंकि सर्दियों के आगमन पर फ्लेवर्ड मिल्क व ठंडई पीना लोग काफी कम पसंद करते हैं और जब तक गर्मियों का आगमन होता है तब तक ये एक्सपायरी हो चुकी होती हैं और इन्हें डस्टबीन में फेंकना पड़ता है।

बिस्किट का बड़ा डिब्बा देखकर ठगे ना जाना
मार्केटिंग करने की पॉलिसी आजकल बड़ी कपंनियों की काफी आकर्षित सभी को करती है। सुंदर बड़े-बड़े बिस्किट के डिब्बे गोल्डन व सिल्वर रंग में बेहद उम्दा लगते हैं। लेकिन आपको ये याद रखना है कि यही आकर्षक डिब्बे धोखा देते हैं। अगर आप ये सोचकर कि डिब्बा बड़ा है तो खरीद लेते हैं, तो इसे बदल दीजिए। क्योंकि कई बार बड़े डिब्बे में 5 रुपए व 10 रुपए के बिस्किट के अधिक पैकेट व बड़े दो-तीन पैकेट कंपनियां रख देती हैं। इसलिए ध्यान रखें कि कितने पैकेट बिस्किट हैं और उनका वेट कितना है।
किन्नरों का खास कब्रगाह...हिजड़ों का खानकाह

नमकीन में है बड़ा खेल
मीठा खाकर दीवाली पर लोग ऊबें ना इसलिए नजदीकी लोग मीठा या बिस्किट, जूस के बजाय नमकीन वाले गिफ्ट पैक देना पसंद करते हैं। लेकिन इनमें भी वेट के साथ वेरायटी का खेल होता है। जैसे आलू भूजिया या प्लेन बेसन भूजिया नमकीन सस्ती होती है। जबकि दाल होने की वजह से दाल मोंठ, पंजाबी तड़का, खट्टी-मीठी नमकीन, पचरंगा नमकीन व मसालेदार भूजिया नमकीन या मूंगफली की नमकीन महंगी होती है। ऐसे में गिफ्ट पैक में आलू भूजिया व प्लेन भूजिया के बड़े पैकेट रखे जाते हैं जबकि बाकी के 10-20 रुपए वाले पैकेट होते हैं।

कहीं ड्राईफ्रूट्स पैक में सिर्फ किशमिश तो नहीं खरीद रहे आप
ऑनलाइन व ऑफलाइन ड्राईफ्रूटस गिफ्ट पैक खूब बिक रहे हैं। हेल्थ से जूड़े होने के साथ ही किसी को भी सबसे नजदीकी होने का एहसास दिलवाने के लिए लोग ड्राईफ्रूट्स के गिफ्ट पैक देना खास पसंद करते हैं। वैसे इसे स्टेटस सिंबल से भी जोड़कर लोग देखते हैं। ऐसे में ध्यान दें कि कहीं आप ड्राईफ्रूट्स पैक के नाम पर सिर्फ किशमिश तो नहीं खरीद रहे। क्योंकि देखा गया है कि ड्राईफ्रूट्स पैक में सबसे सस्ती किशमिश होने की वजह से उसके बड़े पैक को रखा जाता है और बाकी ड्राईफ्रूट्स का वेट कम होता है जबकि आप पैसे बादाम व काजू के देते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.