Tuesday, Oct 04, 2022
-->
the-investigation-done-before-investing-in-these-colonies-of-ghaziabad-otherwise-there-may-be-loss

सावधान- गाजियाबाद की इन कॉलोनियों में निवेश से पहले करा लें जांच, नहीं तो हो सकता है नुकसान

  • Updated on 4/23/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। अवैध निर्माण को लेकर गाजियाबाद विकास प्राधिकरण आजकल काफी सक्रिय है। प्राधिकरण का प्रवर्तन दस्ता जोनवार अलग-अलग क्षेत्रों में कार्रवाई कर अवैध निर्माण को हटाने का अभियान चला रहा है। वहीं अब प्रवर्तन जोन-7 के लिए प्राधिकरण ने खास तौर पर नोटिस जारी कर जोन के कुछ इलाकों में सोच समझ कर संपत्ति खरीदने की हिदायत दी है। इसके साथ ही प्राधिकरण ने चेतावनी भी जारी की है कि किसी भी प्रकार की अवैध संपत्ति में निवेश करने के बाद , उस संपत्ति पर कार्रवाई होने की दशा में खरीददार ही जिम्मेदार होगा। 

इन कॉलोनियों में सोच-समझकर लें प्रापर्टी 
जीडीए द्वारा जारी किए गए नोटिस में प्रवर्तन जोन-7 में पडऩे वाले कुछ इलाकों के बारे में उल्लेख किया गया है। जहां संपत्ति के क्रय विक्रय को लेकर सावधानियां बरती जानी जरूरी हैं। इन कॉलोनियों में  राजेन्द्र नगर सेक्टर-2,3 व 5, शालीमार गार्डन एक्स-2, वृंदावन गार्डन, श्याम पार्क मेन, श्याम पार्क एक्सटेंशन, राजबाग स्वरूप पार्क, जनकपुरी, पंचशील पार्क, राधेश्याम पार्क जैसी कॉलोनियां शामिल हैं। 

जोन-7 के प्रवर्तन प्रभारी प्रभारी सीपी त्रिपाठी ने बताया कि इन तमाम कॉलोनियों में निजी विकासकर्ताओं द्वारा भूखंडों पर निर्माण किया जाता है। जिसमें कई निजी विकासकर्ताओं द्वारा निर्माण के दौरान मानचित्र स्वीकृति के विपरित निर्माण पाया गया है। जिसके खिलाफ ना सिर्फ निजी विकासकर्ताओं पर एफआईआर दर्ज की गई है। बल्कि कई निर्माणों को ध्वस्त भी किया गया। 

निवेश से पहले कर लें जांच, बाद में हो सकती है परेशानी 
जीडीए अधिकारियों ने खास हिदायत दी है कि जोन-7 में प्रोपर्टी में निवेश करते वक्त लोग प्राधिकरण से उक्त प्रापर्टी के बारे में पूरा विवरण जरूर हासिल करें। ताकि बाद में कार्रवाई होने पर उन्हें नुकसान ना उठाना पड़े। जिसके लिए प्राधिकरण बिल्कुल जिम्मेदार नहीं होगा। 
 

comments

.
.
.
.
.