Tuesday, Feb 18, 2020
the name of the new city in delhi will be kept by opinion of  delhi citizen

आम जनता की राय से रखे जाएंगे दिल्ली के नए शहरो के नाम

  • Updated on 7/26/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राज्यसभा सांसद (MP) विजय गोयल (Vijay Goel) की मांग पर दिल्ली (Delhi) शहर के नाम के शब्दों में परिवर्तन होगा या नहीं, इसका ठोस जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है। लेकिन लैंड पूलिंग पॉलिसी के तहत भविष्य में बसने वाली नई सिटी का नाम लोगों की पसंद के आधार पर ही रखा जाए, इसकी तैयारी कर ली गई है। इस मसौदे पर पर डीडीए ने मुहर लगा दी है। नई सिटी के नामकरण के लिए लोगों से छह अलग-अलग जोन के नाम पर सुझाव भी मांगे गए हैं। 

कारगिल विजय दिवस पर पढ़िए भारतीय सेना के जांबाजों की वीरता की ये कहानी

लैंड पूलिंग पॉलिसी में नई सिटी के लिए डीडीए ने उठाया कदम
दरअसल, लैंड पूलिंग पॉलिसी (DDA Land Pooling)को लेकर डीडीए का दावा है कि इसमें न केवल लोगों को आधुनिक सुविधाओं वाले क्षेत्र में बसने का अवसर मिलेगा। बल्कि इस नई बसने वाली सिटी में आवासीय सुविधाओं के अलावा काम व मनोरंजन के लिए भी उचित स्थान मिलेगा। रोजगार भी बढ़ेगा। ऐसे में डीडीए ने लैंड पूलिंग पॉलिसी को नया रूप देने तथा लोगों में उसके प्रति और अधिक आकर्षण पैदा करने के इरादे से पहली बार यह मसौदा तैयार किया है। इसके तहत छह अलग-अलग जोन के लिए लोगों द्वारा ही नाम रखे जाएंगे। 

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में लगी आग, मौके पर दमकल

उल्लेखनीय है कि कुछ अपार्टमेंट्स अथवा सड़कों के नाम कारगिल युद्ध के बाद दिल्ली-एनसीआर में शहीद सैनिकों के सम्मान में परिवर्तित किये गए थे। डीएमआरसी इस दिशा में पहले काम कर चुका है, लेकिन वह व्यवसायिक रूप से स्टेशनों के नाम की बिक्री करता है।

6 अलग-अलग जोन के लिए नाम मांगे
डीडीए के एक अधिकारी के अनुसार कई बार किसी स्थान का नाम सुनकर महसूस होता है कि यदि इस क्षेत्र अथवा अपार्टमेंट्स का नाम उनकी पसंद के अनुरूप होता तो और बेहतर होता। इसके अलावा कई बार सरकारी फाइलों में स्थान का नाम कुछ और होता है, लेकिन लोगों में उसे किसी अन्य नाम से  पुकारा जाता है। इस वजह से कई बार इलाके को खोजने में भी बाहरी लोगों को समस्या पेश आती है। 

काबुल में तीन बम धमाके, तालिबान ने ली जिम्मेदारी

इन इलाकों को मिलेगा नया नाम
डीडीए ने लैंड पूलिंग पॉलिसी के तहत इलाके को छह अलग-अलग जोन में विभाजित किया है। इसमें जोन-के-1, जोन-एल,जोन-एन,जोन-पी-2,जोन-जे, जोन-पी-1 हैं। इन्हीं जोन में दिल्ली के 95 ग्रामीण शहरी इलाके शामिल हैं।

केजरीवाल ने कहा...
BJP नेता विजय गोयल द्वारा  ‘डेल्ही’ की जगह ‘दिल्ली’ करने के बयान पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आप सरकार लोगों के जीवन स्तर को बेहतर करने में विश्वास करती है, नाम बदलने में नहीं। लोगों का जीवन स्तर बेहतर करना है। नाम बदलने से दिल्ली के लोगों को क्या लाभ होगा? बेहतर शिक्षा व्यवस्था होने से, अस्पताल की बेहतर सुविधा, बेहतर रोड, बिजली व पेयजल की सुविधा होने से जीवन स्तर बेहतर हो सकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.