Monday, Dec 16, 2019
the need for a great coalition between india and america to the whole world

भारत-अमेरिका के बीच महागठबंधन की जरूरत पूरी दुनिया को : मास्टरकार्ड सीईओ

  • Updated on 7/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मास्टरकार्ड के सीईओ और अध्यक्ष अजय बंगा का मानना है कि भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक भागीदारी ‘महागठबंधन’ है, जिसकी दुनिया को जरूरत है। उन्होंने कहा कि दुनिया के दो महान लोकतांत्रिक देशों के बीच मजबूत रिश्ता दुनिया में बदलाव ला सकता है।

अमेरिका-भारत रणनीतिक और भागीदारी मंच के दूसरे ‘लीडरशिप’ शिखर सम्मेलन में बंगा ने कहा, ‘मैं वास्तव में दुनिया में ऐसा समय देखना चाहता हूं कि जब दो महान लोकतांत्रिक देश सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक रूप से सभी स्तरों पर एक दूसरे से जुड़ें। मैं चाहता हूं कि न केवल भारतीय छात्र अमेरिका में पढ़े बल्कि और अमेरिकी छात्र भारत में पढ़ने के लिए जाएं। 

फेसबुक पर फिर आई मुसीबत, लग सकता है 34 हजार करोड़ का जुर्माना

दोनों देशों के डॉक्टर, नौकरशाह व कलाकार के बीच विचारों का आदान प्रदान हो। एक दूसरे के विचारों का सम्मान करते हुए स्वतंत्र होकर काम करें। भारत और अमेरिका के रिश्तों में काफी सुधार हुआ है, लेकिन मैं इसे और मजबूत होते देखना चाहता हूं। 

यह महागठबंधन दुनिया में बदलाव ला सकता है। इस मौके पर मास्टरकार्ड के सीईओ को अमेरिका और भारत के बीच आर्थिक संबंधों को मजबूत बनाने में योगदान को लेकर वैश्विक उत्कृष्ठता पुरस्कार, 2019 से सम्मानित किया गया।

1.3 अरब डालर कोकीन सहित जब्त जहाज का स्वामित्व जेपी मॉर्गन के पास

भारत के साथ मजबूत रिश्ते चाहती है ट्रंप सरकार
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद जे. कशनर ने कहा कि ट्रंप प्रशासन भारत-अमेरिका संबंधों को और अधिक मजबूत बनाने के लिए पूरी तरह फोकस है। अमेरिका-भारत रणनीतिक और भागीदारी मंच के दूसरे ‘लीडरशिप’ शिखर सम्मेलन में कशनर ने कहा कि भारत उन कुछ देशों में शामिल है जिससे साथ अमेरिका अपने रिश्तों को लगातार मजबूत बनाने की कोशिश कर रहा है। 

Pakistan- अग्रिम एयरबेस से लड़ाकू विमान हटाए भारत

बातचीत के जरिए सुलझेंगे मतभेद : शृंगला
इसी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन शृंगला ने कहा कि व्यापार को लेकर दोनों देशों के बीच जो भी मतभेद हैं वो बातचीत के जरिए सुलझ जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत-अमेरिका को अपने मजबूत रिश्तों के बीच सभी तरह की अड़चनों को दूर करने का प्रयास करना चाहिए। 

हाल के दिनों में देनों देशों के बीच व्यापार शुल्क को लेकर रिश्तों में थोड़ी कड़वाहट आई है। पिछले दिनों भारत ने अमेरिका के 28 उत्पादों पर व्यापार शुल्क बढ़ा दिया था, जिस पर ट्रंप प्रशासन ने नाराजगी जताई थी।  

व्यापार असंतुलन से निराश है अमेरिका : गेरिश

अमेरिका के उप व्यापार प्रतिनिधि जेफरी डी गेरिश ने कहा कि भारत के साथ व्यापार संबंधों में संतुलन कमी से हम निराश हैं और इसे जल्द दूर किया जाना चाहिए। गेरिश से पहले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटजर भी व्यापार असंतुलन का मुद्दा उठा चुके हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.