Friday, Jul 01, 2022
-->
The path of former CM Manjhi is not easy Chaudhary and Shobha Sinha are in competition ALBSNT

इमामगंज सीटः पूर्व सीएम मांझी की राह आसान नहीं!  चौधरी और शोभा सिन्हा से है टक्कर

  • Updated on 10/24/2020

नई दिल्ली/कुमार आलोक भास्कर।  बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में होने वाले मतदान में इमामगंज सीट को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। हो भी क्यों न-इस सीट से पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ताल ठोंक रहे है। तो उन्हें चुनौती पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी दे रहे है। तो दूसरी तरफ पूर्व विधायक की पुत्र वधु भी किस्मत आजमा रही है। जिससे यह सीट काफी दिलचस्प हो गया है।

फ्री वैक्सीन पर हो रही किरकिरी के बीच वित्त मंत्री ने कहा- यह घोषणा बिल्कुल सही

मालूम हो कि बिहार के पूर्व सीएम मांझी अपनी पार्टी हम पार्टी से उम्मीदवार है। हालांकि वे इस बार एनडीए में शामिल हो गए है। जबकि कभी जदयू में रहे चौधरी इस बार राजद के टिकट पर मैदान में है। इमामगंज विधानसभा सीट, जहां पहले चरण में 28 अक्टूबर को मतदान होना है, कुल दस उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। इस बीच, चिराग पासवान की पार्टी लोजपा ने इमामगंज से पूर्व विधायक रामस्वरूप पासवान की पुत्र वधु शोभा सिन्हा को चुनाव मैदान में उतारा है।

बिहार चुनावः प्रचार करने गए विधायकों के समर्थकों पर हमला,14 घायल

मालूम हो कि इमामगंज में 28 अक्टूबर को ही मतदान होने है। जिस कारण इस सीट को लेकर गहमागहमी तेज हो गई है। सभी प्रत्याशी चुनाव-प्रचार में व्यस्त है। अगर मांझी की बात करें तो वे राज्य के 23 वें सीएम भी रहे है। वे राज्य में सीएम पद पर  20 मई 2014 से 20 फरवरी 2015 तक काबिज रहे है। गया जिले में इमामगंज विधानसभा सीट सुरक्षित है।  2019 की मतदाता सूची के अनुसार इमामगंज निर्वाचन क्षेत्र में कुल 2,87,648 मतदाता हैं, जिनमें महिला मतदाताओं की संख्या 1,36,000 है। 

 

 

comments

.
.
.
.
.