Monday, Jan 21, 2019

शौचालय का हुआ ‘असली’ उद्घाटन और जहां किसान ‘पिलाते हैं फसलों को शराब’

  • Updated on 12/26/2018

आज की उलझन भरी जिंदगी में राजनीति के दाव-पेंच और पारिवारिक जीवन की भागमभाग ने आम लोगों का जीवन तनावों से भर दिया है। हमारे पाठक राजनीति की कशमकश से भरी खबरें तो पढ़ते ही रहते हैं, आज हम यहां कुछ ऐसे समाचार दे रहे हैं जो राजनीतिक समाचारों से हट कर हमें बताते हैं कि दुनिया किधर जा रही है :

शौचालय का उद्घाटन : भाजपा के रांची (झारखंड) से सांसद राम टहल चौधरी ने 22 दिसम्बर को रांची रेलवे स्टेशन पर एक ई-टायलैट का उद्घाटन उसमें सबसे पहले स्वयं दीर्घशंका निवारण करके किया। 

उन्होंने मीडिया की उपस्थिति में पहले फीता काट कर ई-टायलैट का उद्घाटन किया और फिर ई-टायलैट कक्ष के प्रवेश द्वार में 5 रुपए का सिक्का डाल कर अंदर गए और टायलैट का इस्तेमाल करने वाले पहले व्यक्ति बने।

फसल पर शराब का छिड़काव : उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर और बिजनौर में किसान अधिक झाड़ प्राप्त करने के लिए विशेष रूप से आलू और गन्ने की फसलों पर शराब और पानी के मिश्रण का कीटनाशकों की भांति छिड़काव कर रहे हैं। किसानों का मानना है कि इससे आलू का आकार बढ़ जाता है और फसल भी जल्दी तैयार हो जाती है। 

पाकिस्तान में गधे ही गधे : पाकिस्तान में गधों की संख्या लगातार बढ़ रही है और वह दुनिया में तीसरा गधों की सर्वाधिक आबादी वाला देश बन गया है। पहले स्थान पर चीन और दूसरे स्थान पर इथोपिया है। 

यहां इनकी संख्या 53 लाख को पार कर चुकी है। अकेले लाहौर में ही गधों की संख्या 41000 है। इतनी बड़ी संख्या में गधों को देखते हुए पाकिस्तान में इनके मुफ्त इलाज के लिए अस्पताल बनाया गया है। पूरे देश में गधों की कीमत भी तेजी से बढ़ी है जो नस्ल के हिसाब से 35,000 से 55,000 रुपए तक है। गधों से यहां लोग 800 रुपए दैनिक तक कमा रहे हैं।

बसों में खटमल : कुछ समय पहले तक कर्नाटक राज्य परिवहन निगम की बसों में खटमलों की भरमार हुआ करती थी तथा खटमलों के काटने से यात्री बुरी तरह परेशान थे। 

इस बारे यात्रियों की बड़ी संख्या में आने वाली शिकायतों के निपटारे के लिए अधिकारियों ने अपनी सभी बसों में नियमित रूप से कीटनाशकों के छिड़काव पर 1 करोड़ रुपया प्रतिवर्ष खर्च करना शुरू किया और तब कहीं जाकर बसों में यात्रियों को खटमलों से मुक्ति मिली है। अब हर 3 महीनों के बाद बसों में कीटनाशकों का छिड़काव अनिवार्य कर दिया गया है।

सांप के कटे सिर ने आदमी को डसा : अमरीका में अपने बगीचे में काम कर रहे व्यक्ति ने सांप को देखकर उसे मार डाला और उसका सिर धड़ से अलग कर दिया ताकि कोई खतरा न रहे।

जब वह कटे हुए सिर को फैंकने जा रहा था तभी सांप के सिर ने उस व्यक्ति को डस लिया और जल्दी ही जहर ने उसे अपनी गिरफ्त में ले लिया। पता चलने पर घर वालों ने उस आदमी को तुरंत ‘एयरलिफ्ट’ कर अस्पताल पहुंचाया तब कहीं जाकर उसकी जान बचाई जा सकी।

मेंढक के पसीने के बाद अब कुत्ता गोली : पिछले दिनों यह समाचार आया था कि हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में युवा नशा करने के लिए मेंढक का पसीना चाट रहे हैं और अब देश के अनेक हिस्सों में युवाओं द्वारा नशे के लिए ‘कुत्ता गोली’ के इस्तेमाल का पता चला है। 

महाराष्ट्र के नासिक जिले में 8 लोगों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे  से 6,000 से अधिक कुत्ता गोलियां जब्त की गई हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार इस गोली का डाक्टरी भाषा में नाम ‘अलप्रोलोजोम’ है। 

इसे खाने के बाद व्यक्ति नींद के अधीन हो जाता है और अगर इस गोली के सेवन के बाद सो नहीं पाया तो वह अपना आपा खो देता है और किसी भी काम को करने के मामले में आगा-पीछा नहीं देखता, इसलिए इसका नाम ‘कुत्ता गोली’ रखा गया है। इस गोली का सेवन करने के बाद व्यक्ति का शरीर ‘बधिर’ हो जाता है, वह दर्द महसूस नहीं करता तथा बहुत अधिक उत्तेजित हो जाता है।

राजनीतिक तनातनी की खबरों से अलग उक्त खबरें हमें समाज में आ रहे नए बदलावों से रू-ब-रू करवाती हैं और इसके साथ ही हमें यह भी बताती हैं कि राजनीतिक उठा-पटक के अलावा भी समाज में बहुत कुछ हो रहा है।  —विजय कुमार                                   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.