the-screw-trapped-by-jam-on-aurobindo-road

अरबिंदो मार्ग पर जाम से निजात दिलाने में फंसा पेच!

  • Updated on 5/16/2019

नई दिल्ली/ ताहिर सिद्दीकी। नई दिल्ली और दक्षिणी दिल्ली से गुरुग्राम जाने वालों को फिलहाल ट्रैफिक जाम से निजात मिलने के आसार नहीं हैं। ट्रैफिक जाम वाले दक्षिणी दिल्ली के बेहद व्यस्त कॉरिडोर अरङ्क्षबदो मार्ग को सुधारने और चौड़ीकरण की योजना अधर में लटक गई है। करीब 10.9 किलोमीटर लंबे इस मार्ग को चौड़ीकरण करने, इस पर फुटओवर ब्रिज बनाने और जाम हटाने के लिए लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के साथ साऊथ एमसीडी, एनडीएमसी और बागवानी विभाग को शामिल किया गया था, लेकिन अब इस मार्ग को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने में कई अड़चनें सामने आ चुकी हैं। इससे अरबिंदो मार्ग को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने की योजना भंवर में फंस गई है।

बता दें कि उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा गठित टास्क फोर्स को पहले चरण में 28 कॉरिडोर को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने की जिम्मेदारी दी गई है। टास्क फोर्स मेें दिल्ली सरकार के अलावा अन्य एजेंसियों को भी शामिल किया गया है।

इस मार्ग के चौड़ीकरण में लाडो सराय गोल्फ  कोर्स में भारतीय पुरातत्व विभाग (एसएसआई) का स्टोन वाल आड़े आ रहा है। एसएसआई के स्टोन वाल को हटाने की जिम्मेदारी दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने दिल्ली सरकार के लोक निर्माण विभाग पर छोड़ दी है। इससे संबंधित कार्रवाई लोक निर्माण विभाग को करना है। वहीं, अरङ्क्षबदो मार्ग के चौड़ीकरण की भूमि (खसरा नंबर-157) पर डीडीए का स्वामित्व है और उक्त भूमि पर कोर्ट केस चल रहा है। डीडीए ने यह भूमि देने से हाथ खड़े कर दिए हैं।

Image result for अरबिंदो मार्ग पर जाम

डीडीए का कहना है कि भूमि पर केस चल रहा है, इसलिए इसे मार्ग के चौड़ीकरण के लिए नहीं दिया जा सकता है। डीडीए ने साफ  कर दिया है कि इस मार्ग का स्वामित्व लोक निर्माण विभाग के पास है। इसलिए पीडब्ल्यूडी ही अरबिंदो मार्ग के चौड़ीकरण की रूपरेखा और संभावना तय करे।  ज्ञातव्य है कि करीब 2 वर्ष पूर्व उपराज्यपाल के निर्देश पर टास्क फोर्स ने अरबिंदो मार्ग के चौड़ीकरण की योजना बनाई थी। इससे मध्य दिल्ली से दक्षिणी दिल्ली होते हुए गुडग़ांव जाने वाले हजारों यात्रियों को जाम से राहत मिलने की उम्मीद थी। एम्स से महरौली तक भी यात्रियों को भारी राहत मिलता। इसे ध्यान में रखकर इस मार्ग पर कई जगह सड़क को चौड़ा करने की योजना बनाई गई थी। इसके मार्ग में आईएनए मार्केट,एम्स,युसूफ  सराय मार्केट,अधचीनी विलेज,मालवीय नगर टी-प्वाइंट,लाडो सराय, तेग बहादुर अस्पताल व अंधेरिया मोड़ जैसे चौराहे हैं,जहां से रोजाना हजारों लोगों को आना-जाना लगा रहता है, लेकिन अक्सर उन्हें जाम में फंसना पड़ता है।

क्या है योजना

  • एम्स के फुटपाथ से हटेंगे अतिक्रमण
  • गौतम नगर में सड़क किनारे फूल बेचने वालों और कूड़ा स्थल को हटाया जाएगा
  • युसूफ  सराय मार्केट के समीप हटायी जाएगी कार पार्किंग
  • अधचीनी फुटपाथ से हटेगा अतिक्रमण
  • पीडब्ल्यूडी सड़क को चौड़ा करेगा और लोगों की सुविधा के लिए अंडरपास भी बनाएगा
  • एम्स के मुख्य गेट के सामने एफओबी का निर्माण
  • युसूफ  सराय मार्केट में अंडरपास का निर्माण
  • प्रेस एनक्लेव रोड की टी-प्वाइंट पर दोनों ओर स्लिप रोड का निर्माण
  • सॉलिटेयर गार्डेन के पास रोड होगी चौड़ी
  • टीबी अस्पताल के समीप बना सीएनजी फिङ्क्षलग स्टेशन दूसरी जगह होगा शिफ्ट
  • पीटीएस मालवीय नगर और आईआईटी से अधचीनी के बीच सेंट्रल वर्ज पर ग्रिल
  • आईएनए मार्केट के सेंट्रल वर्ज की चौड़ाई को घटाकर सॢवस रोड को किया जाएगा चौड़ा
  • एम्स के गेट नंबर-3 से हटाए जाएंगे पेड़
  • गौतम नगर में हटेंगे पेड़
  • मदर्स इंटरनेशनल स्कूल और अधचीनी मार्केट से हटेंगे 27 पेड़
  • आईएनए मार्केट बस स्टॉप शिफ्ट होगा आईएनए मेट्रो स्टेशन के पास
  • अंधेरिया मोड़ का बस स्टॉप महरौली-गुडग़ांव रोड पर होगा शिफ्ट
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.