Friday, May 27, 2022
-->
the-silence-of-the-voters-increased-the-uneasiness-of-the-candidates

मतदाताओं की चुप्पी ने प्रत्याशियों की बढ़ाई बेचैनी

  • Updated on 1/22/2022

नई दिल्ली, (टीम डिजिटल):दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर की तीनों विधानसभा के मतदाताओं की चुप्पी से प्रत्याशी भी बेचैन दिख रहे हैं। सबसे ज्यादा बेचैन जेवर विधानसभा के प्रत्याशी हैं। चुनावी विश्लेषकों का मानना है कि जेवर विधानसभा में इस बार प्रत्याशियों के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। मतदाता भी खुलकर किसी भी प्रत्याशी का समर्थन नहीं कर रहे हैं।

बता दें कि गौतमबुद्ध नगर की जेवर विधानसभा सीट पर पिछले।चुनावों में भाजपा के ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने जीत दर्ज की थी। उन्होंने बसपा के कद्दावर नेता एवं मंत्री रहे वेदराम भाटी को शिकस्त दी थी। इस बार भी भाजपा ने यहां से ठाकुर धीरेंद्र सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया हैए जबकि बहुजन समाज पार्टी ने एडवोकेट नरेंद्र भाटी डाढा और सपा व रालोद ने अपने प्रत्याशी के रूप में अवतार सिंह भड़ाना को मैदान मैं उतारा है। कांग्रेस ने यहां से मनोज चौधरी पर दांव खेला है। आंकड़ों के मुताबिक जेवर विधानसभा सीट पर कुल 322982 मतदाता है। जातिगत आंकड़ों के मुताबिक जेवर विधानसभा में गुर्जर, ठाकुर मतदाताओं की संख्या बराबर है। दूसरे नंबर पर यह मुस्लिम, दलित मतदाताओं की संख्या है। इसके अलावा ब्राह्मण,जाट, वैश्य व पिछड़ी जातियों के मतदाता भी चुनाव की दिशा तय करते हैं।

पिछले चुनाव में धीरेंद्र सिंह को ठाकुरों के साथ मिला अन्य जातियों का समर्थन

पिछले चुनाव में भाजपा प्रत्याशी ठाकुर धीरेंद्र सिंह को ठाकुरों के साथ-साथ गुर्जर, ब्राह्मण सहित अन्य जातियों का समर्थन मिला था। हालांकि जेवर क्षेत्र के मतदाता भी खुलकर किसी एक प्रत्याशी को आशीर्वाद नहीं दे रहे हैं जिस कारण प्रत्याशियों में भी संशय बना हुआ है। प्रत्याशी मतदाताओं को रिझाने व साधने में जुटे हुए हैं लेकिन मतदाताओं की चुप्पी से वे अंदर खाने बेचैन भी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.