Thursday, Nov 14, 2019
there is problem in talking to pakistan, not from pakistan, s jaishankar

पाकिस्तान से नहीं, टेररिस्तान से बात करने में दिक्कत: एस जयशंकर

  • Updated on 9/26/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। विदेश मंत्री एस जयशंकर (Subrahmanyam Jaishankar) ने पाकिस्तान (Pakistan) को लेकर कहा हम ऐसे देश से कैसे बात कर सकते है जो आतंकवाद को बढ़ावा देता है। न्यूयॉर्क में काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशंस (Council on Foreign Relations) कार्यक्रम में पाकिस्तान पर जयशंकर ने कहा कि पाकिस्तान से बातचीत हो या ना हो, ये मुद्दा नहीं है। हर कोई अपने पड़ोसी से बात करना चाहता है। मुद्दा यह है कि हम ऐसे देश से कैसे बात करें जो आतंकवाद का संचालन कर रहा है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर का POK पर बड़ा बयान, कहा- जल्द होगा भारत का हिस्सा

जयसंकर ने कहा टेररिस्तान से बात करने में दिक्कत है
उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान टेररिस्तान है और टेररिस्तान के साथ दोबारा बात नहीं की जा सकती है। जयसंकर ने कहा पाकिस्तान से बात करने में कोई समस्या नहीं है, लेकिन टेररिस्तान से करने में दिक्कत है। जयशंकर ने बताया कि पाकिस्तान ने कश्मीर के लिए आतंक की इंडस्ट्री खड़ी कर ली है। उन्होंने कहा दुनिया के विभिन्न हिस्सों में आतंकवाद है, लेकिन कोई हिस्सा ऐसा नहीं है जहां कोई देश अपने पड़ोसी के खिलाफ बड़े पैमाने पर उद्योग के रूप में जानबूझकर इसका उपयोग करता है। पाकिस्तान में आतंकवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है।

आज दुनिया भारत को बहुत ही उत्सुकता और उम्मीद से देख रहा हैः विदेश मंत्री

घाटी में प्रतिबंधों का उद्देश्य जीवन की हानि के बिना स्थिति को संभालना था
जयशंकर ने कहा कि 5 अगस्त से पहले जम्मू-कश्मीर घाटी में गड़बड़ी थी। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की श्रीनगर की सड़कों पर हत्या हो जाती थी। ईद के लिए घर लौट रहे सैन्य कर्मियों का अपहरण कर हत्या कर दी गई। अलगाववाद के खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों की हत्या कर दी गई। कश्मीर में कठिनाइयां 5 अगस्त से शुरू नहीं हुईं। धारा 370 हटाए जाने के बाद प्रतिबंधों का उद्देश्य जीवन की हानि के बिना स्थिति को संभालना था। उन्होंने कहा कि हमारे पास 2016 का अनुभव था, जब बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में हिंसा हुई थी

एस जयशंकर ने कहा कि रात में आतंकवाद और दिन में क्रिकेट, ऐसा नहीं हो सकता। भारत एक लोकतांत्रिक देश है। यहां के लोग क्रिकेट और टेरर एक साथ नहीं स्वीकार करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान में तनाव का मुख्य मुद्दा कश्मीर नहीं 26/11 का मुंबई हमला है।

comments

.
.
.
.
.