Wednesday, Mar 20, 2019

इन चार तरीकों से कम होगा टाइप टू डायबटीज का खतरा...

  • Updated on 2/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। डायबटीज की समस्या से निपटना इतना आसान नहीं है और अगर ये टाइप टू डायबटीज हो तो समस्या और भी गंभीर हो जाती है। डायबटीज से निपटने के लिए आपको कई तरह के जतन करने पड़ते हैं। लेकिन अगर थोड़ी सी सावधानी बरती जाएं और कुछ बातों का खास ख्याल रखा जाए तो टाइप टू डायबटीज से निपटा जा सकता है। आएये जानते हैं वो चार आसान तरीके जिससे इस समस्या से बचा जा सकता है। 

तनाव से बढ़ता है मोटापा, कपिल शर्मा के वजन बढ़ने की यही थी वजह

  • रात का खाना सबसे अहम होता है। कई बार सलाह दी जाती है कि रात का खाना ज्यादा भारी नहीं होना चाहिए क्योंकि रात में सोने के बाद पाचन की क्रिया धीमी पड़ जाती है। ऐसे में रात को हल्का भोजन करके सोने की सलाह दी जाती है। शाम को खाने में फाइबर, लो कार्बोहाइड्रेट वला भोजन करें। 
  • डायबटीज का सबसे ज्यादा असर ज्यादा वजन वाले लोगों पर पड़ता है। मोटापा कई बार शुगर की बीमारी के लिए खतरनाक होती है। इसलिए हो सके तो कोशिश करें वजन कम हो जाए जिससे माना जाता है कि टाइप टू डायबटीज 10 प्रतिशत तक कंट्रोल हो जाएगी। 

गर्भावस्था के दौरान डिब्बाबंद भोजन से शिशु के स्वास्थ्य पर पड़ सकता है असर : अध्ययन

  • खाना खाने के बाद रोज वॉक करें। साथ ही सुबह उठकर भी रोजाना वॉक करें। अगर रात में खाना खाने के बाद धूमा जाए तो काफी हद तक शुगर लेवल कम हो जाता है। ये भी देखा गया है कि कम से कम 45 मिनट की कसरत डायबटीज के मरीजों के लिए वरदान होती है। 
  • खूब सारा पानी और ताजे फल खाएं। ताजा खाना ही खाएं। पानी पर्याप्त मात्रा में लेने से एक्ट्रा ग्लूकोज यूरिन के बाहर निकल जाता है और सुबह ब्लड में शुगर  लेवल कम हो जाता है। 
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.