Thursday, Jan 20, 2022
-->
these issues will be from india, including china, pakistan in 75th unga prshnt

75 वें UNGA में चीन, पाकिस्तान समेत भारत की ओर से होंगे ये मुद्दे, PM मोदी बताएंगे भारत की प्राथमिक

  • Updated on 9/26/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आज शाम करीब 6:30 को संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) को संबोधित करेंगे जिसमें अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के लिए प्रभावी प्रतिक्रिया और अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए समावेशी और जिम्मेदार समाधान के सबसे महत्वपूर्ण विषय होने की संभावना है।

सूत्रों के मुताबिक अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए समावेशी और जिम्मेदार समाधान चीन के उद्देश्य से है, जबकि अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के लिए प्रभावी प्रतिक्रिया पाकिस्तान को लक्षित करती है।

PM मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा की जनरल डिबेट को आज करेंगे संबोधित, इन मुद्दे पर होगा जोर

पहले स्पीकर के रूप में निर्धारित किए गए पीएम मोदी
सूत्रों के मुताबिक भारत की प्राथमिकताओं में एक सुधारित बहुपक्षीय प्रणाली के लिए नई अभिविन्यास और सभी के लिए प्रौद्योगिकी और शांति व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने की है। चूंकि भारत दो साल के लिए यूएनएससी का एक गैर-स्थायी सदस्य होगा, इसलिए पीएम मोदी के भारत के 5-एस के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने की संभावना है जिसमें सम्मान, वार्ता, सहियोग, शांति और समृद्धि शामिल है।

प्रधान मंत्री मोदी को 26 सितंबर को शुरू होने वाले पहले स्पीकर के रूप में निर्धारित किया गया है। 75 वें UNGA का विषय, भविष्य हम चाहते हैं, संयुक्त राष्ट्र हमें जरूरत है, बहुपक्षवाद के लिए हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हुए प्रभावी बहुपक्षीय कार्रवाई के माध्यम से कोरोना का सामना करते हुए।

Earthquake: लद्दाख में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 3.7 रही तीव्रता

पूर्व-रिकॉर्डेड वीडियो स्टेटमेंट
चूंकि यूएनजीए इस वर्ष महामारी की पृष्ठभूमि में आयोजित किया जा रहा है, इसलिए इसे ज्यादातर ऑनलाइन माध्यम से आयोजित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री का संबोधन न्यूयॉर्क में UNGA हॉल में प्रसारित एक पूर्व-रिकॉर्डेड वीडियो स्टेटमेंट होगा।

सूत्रों ने कहा कि UNGA के 75 वें सत्र के दौरान भारत के लिए प्राथमिकता के मुद्दों में से एक "आतंकवाद पर वैश्विक कार्रवाई को मजबूत करने के लिए" होगा और "भारत और अनुमोदन समितियों में संस्थाओं और व्यक्तियों को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया में अधिक पारदर्शिता के लिए धक्का होगा।

आजादी के 75वें साल पर नए भवन में संसद चलाने का लक्ष्य, 21 महीने में तैयार होगी नई इमारत

वैश्विक सहयोग में योगदान को किया जाएगा उजागर
सूत्रों का कहना है कि भारत, सबसे बड़ा सैन्य योगदान करने वाले देशों में से एक है, संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों के लिए जनादेश को अंतिम रूप देने में गहनता से संलग्न होना चाहता है। सतत विकास और जलवायु परिवर्तन से जुड़े मुद्दों पर भारत की सक्रिय भागीदारी से भी अवगत कराया जाएगा।

इसके अलावा स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के रूप में अपनी भूमिका को बढ़ावा देते हुए, भारत 150 से अधिक देशों की सहायता से और दुनिया के लिए एक फार्मेसी होने के द्वारा कोविद -19 के खिलाफ वैश्विक सहयोग में योगदान को उजागर करेगा। वहीं महिलाओं पर चौथे विश्व सम्मेलन की 25 वीं वर्षगांठ है, ऐसे में भारत महिलाओं के नेतृत्व वाले विकास में अपनी प्रतिबद्धताओं और उपलब्धियों को दोहराएगा। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.