Tuesday, Jun 28, 2022
-->
this bill is not a bill for integration of mcd it is kejriwal phobia bill: aap sanjay singh rkdsnt

ये बिल MCD के एकीकरण का बिल नहीं, 'केजरीवाल फोबिया बिल" है : संजय सिंह

  • Updated on 4/5/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राज्यसभा में मंगलवार को आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने केंद्र से कहा कि वह राष्ट्रीय राजधानी में तीनों नगर निगम के एकीकरण संबंधी विधेयक का नाम बदलकर ‘‘केजरीवाल फोबिया बिल’’ रख दे। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) निगम चुनाव से बचने के लिए यह विधेयक लायी है। 

भागवत कथा वाचक मृदुल कृष्ण, उनकी पत्नी समेत 5 के खिलाफ मारपीट, लूटपाट का मामला दर्ज 

  •  

सिंह ने उच्च सदन में ‘दिल्ली नगर निगम (संशोधन) विधेयक, 2022’ विधेयक पर हुई चर्चा में भाग लेते हुए यह बात कही। उन्होंने दावा किया कि अरविन्द केजरीवाल की पार्टी को सत्ता में आने से रोकने के लिए केंद्र यहां तीनों नगर निगमों पर अपना नियंत्रण करना चाहता है। उन्होंने कहा, ‘‘यदि आप चुनाव नहीं लड़ना चाहते, चुनाव से भागना चाहते हैं तो मैं आपको सुझाव दूंगा कि इस विधेयक का नाम केजरीवाल फोबिया बिल रख दीजिए। यह विधेयक आपकी कायरता की कहानी लिख रहा है... आपने दिल्ली को भ्रष्टाचार का केंद्र बना दिया है।’’ 

संसद समिति के समक्ष पेश हुईं SEBI अध्यक्ष माधवी पुरी

इस विधेयक को गृह मंत्री अमित शाह के जवाब के बाद सदन ने ध्वनिमत से पारित कर दिया। लोकसभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है। आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए गृह मंत्री शाह ने विधेयक पर हुई चर्चा के जवाब में कहा कि अगर यही रवैया रहा तो नगर निगम में जीतने का दावा करते करते वह दिल्ली की सरकार न गंवा दें। 

हरियाणा विधानसभा ने की चंडीगढ़ को लेकर पंजाब की AAP सरकार के कदम की निंदा

उन्होंने दिल्ली की आप सरकार पर तीन नगर निगमों के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह निगमों को प्रताडि़त कर रही है और इससे दिल्ली की जनता प्रताडि़त हो रही है। शाह ने इस बात को निराधार बताया कि भारतीय जनता पार्टी सरकार हार के भय से आक्रांत होकर चुनाव टालना चाहती है। उन्होंने विपक्ष से सवाल किया कि अगर छह महीने बाद चुनाव होंगे तो क्या विपक्ष को हारने का भय है।  

भाजपा सरकार चुनावों को टालने के लिए तीनों निगमों को एक करने का कदम उठा रही : विपक्ष 


 

comments

.
.
.
.
.