Saturday, Dec 03, 2022
-->
this-is-a-crusade-the-child-of-the-farmer-will-give-sacrifice-in-it-naresh-tikait-albsnt

यह धर्मयुद्ध है, किसान का बच्चा-बच्चा इसमें देगा आहुति : नरेश टिकैत

  • Updated on 2/3/2021

रुड़की/ब्यूरो। कृषि कानून बिलों के विरोध में बुधवार को मंगलौर स्थित गुड़ मंडी परिसर में किसान महापंचायत आयोजित हुई। इसमें कृषि कानूनों के वापस होने तक आंदोलन जारी रखने का ऐलान हुआ। महापंचायत में कहा गया कि किसान का बच्चा बच्चा इसमें आहुति देगा। भाकियू सुप्रीमो नरेश टिकैत ने कहा कि यह धर्मयुद्ध है। हम इतिहास में अपना नाम काले अक्षरों में नहीं लिखवाएंगे बल्कि सुनहरे अक्षरों में ही लिखा जाएगा।

गणतंत्र दिवस हिंसा : दिल्ली पुलिस ने दिया सामाजिक कार्यकर्ता योगिता भयाना को नोटिस 

किसान नेताओं ने दिल्ली में 26 जनवरी को हुई घटना को निंदनीय बताया। उन्होंने कहा कि अकेले लड़ाई नहीं लड़ी जा सकती। अगर एकजुटता नहीं रही तो सरकार किसानों को खत्म करने का काम करेगी। यह लड़ाई हल्की नहीं है। यह लड़ाई ऐसी सरकार के साथ है जो पूरी तरह हठधर्मिता पर उतारू है। किसानों ने जिस प्रकार से एकजुटता दिखाई है। उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। इस दौरान मंडी परिसर में किसानों का भारी भरकम जमावड़ा रहा। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरेें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.