Tuesday, Sep 28, 2021
-->
Three more Rafale planes flew to India from France rkdsnt

फ्रांस से उड़कर तीन और राफेल विमान भारत पहुंचे

  • Updated on 7/21/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राफेल युद्धक विमानों की सातवीं खेप में तीन और विमान फ्रांस से उड़कर बिना रुके लगभग आठ हजार किलोमीटर की दूरी तय कर भारत पहुंचे। इन विमानों को भारतीय वायु सेना की राफेल विमानों की दूसरी स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा। फ्रांस से आए इन विमानों को हवाई मार्ग के बीच में संयुक्त अरब अमीरात की वायुसेना ने ईंधन उपलब्ध कराया।

पेगासस स्पाइवेयर विवाद को लेकर संसदीय समिति कर सकती है पूछताछ

भारतीय वायु सेना ने ट्वीट किया, फ्रांस के इस्त्रेस एयर बेस से उड़कर बिना रुके तीन राफेल विमान कुछ देर पहले भारत पहुंचे। हवाई मार्ग के बीच में सहायता देने के लिए यूएई वायु सेना को भारतीय वायु सेना धन्यवाद देती है।’’ इस खेप के आने के बाद अब भारत में पास 24 राफेल विमान हो गए हैं। राफेल जेट की नई स्क्वाड्रन पश्चिम बंगाल के हासीमारा एयर बेस पर स्थित होगी। पहली राफेल स्क्वाड्रन अंबाला वायु सेना स्टेशन पर स्थित है। एक स्क्वाड्रन में 18 विमान होते हैं।  

पेगासस स्पाईवेयर के संभावित निशानों की लिस्ट में फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों का भी नाम

टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण 
रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बुधवार को स्वदेश में विकसित कम वजन वाले ऐसी टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल का परीक्षण किया जिसे व्यक्ति के कंधे पर रख कर चलाया जा सकता है। इस सफल परीक्षण के साथ ही सेना द्वारा इसके निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। रक्षा मंत्रालय ने मिसाइल के सफल परीक्षण को सरकार के ‘आत्मनिर्भर अभियान’ की दिशा में बड़ा कदम बताया। इस मिसाइल का विकास भारतीय सेना की लड़ाकू क्षमता विकसित करने के लिए किया जा रहा है। 

ऑक्सीजन की कमी की वजह से अपनों को गंवाने वाले केंद्र को कोर्ट में ले जाएं: राउत

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘आत्मनिर्भर भारत की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए और भारतीय सेना को मजबूत करने के लक्ष्य से डीआरडीओ ने स्वदेश में विकसित कम वजन वाली, दागो और भूल जाओ, मैन पोर्टेबल टैंक रोधी गाइडेड मिसाइल (एमपीएटीजीएम) का 21 जुलाई को सफल परीक्षण किया।’’ बताया गया है कि मिसाइल को थर्मल साइट से जुड़े मैन-पोर्टेबल लांचर से दागा गया और निशाना एक टैंक जैसी वस्तु को बनाया गया।

अडाणी ग्रुप ने ब्रांडिंग, Logo करार तोड़ा, शुरू किए बदलाव - AAI कमेटियां

 

 

comments

.
.
.
.
.