Tuesday, Oct 04, 2022
-->
tighten the screws khalistan threats to indian diaspora in canada albsnt

कसा शिकंजा तो बौखलाए खालिस्तानी! कनाडा में भारतवंशियो को मिल रही धमकी, भारत नाराज

  • Updated on 2/16/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किसान आंदोलन को लेकर देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी चर्चा हो रही है। वहीं कनाडा में भारतवंशियों को तब से निशाने पर खालिस्तानियों ने लेना शुरु कर दिया है जबसे टूलकिट मामले में भारत सरकार ने शिकंजे कस दिये है। इसी कड़ी में भारत ने कनाडा के पीएम जस्टिन टूडो को पत्र लिखकर भारतवंशियों के सुरक्षा सुनिश्चित करने की गुहार लगाई है।

ग्रेटा थनबर्ग टूलकिट मामले में दिशा रवि गिरफ्तार, कोर्ट ने 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

बता दें कि पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग के टूलकिट विवाद में तब नया मोड़ आ गया जब दिल्ली पुलिस ने एक स्पेशल जांच करके भारत विरोधी साजिश में कनाडा कनेक्शन का खुलासा किया। दरअसल जिस टूलकिट का इस्तेमाल करके ट्विटर पर भारत की छवि को धक्का पहुंचाने की कोशिश की गई,उसमें दिशा रवि भी शामिल थी। दिशा रवि को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया है।

इंटरनेट पर रोक शासनों का पसंदीदा उपाय बन गया है: डिजिटल राइट्स ग्रुप 

मालूम हो कि कनाडा में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने कनाडा के पीएम को पत्र लिखकर भारतवंशियों को निशाने पर लेने पर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि कनाडा में रह रहे जो भारतवंशी कृषि कानून के समर्थन की बात करते है उन्हें धमकी दी जाती है। यहीं नहीं  उनके बिजनेस के बायकॉट तक की बात कही जा रही है। साथ ही भारतवंशियों को हिंसा और रेप जैसी धमकियां भी मिल रही है। उन्होंने कहा कि कनाडा के ग्रेटर टोरंटो एरिया, मेट्रो वैंकोवर और वैंकोवर जैसे इलाकों में ऐसी धमकियां दी जा रही है। उन्होंने भारतवंशियों से कहा है कि उन्हें जो धमकियां मिलती है उसकी शिकायत स्थानीय पुलिस के साथ-साथ भारतीय उच्चायुक्त को भी दिया जाए। उन्होंने कहा कि भारत के कृषि कानू को तोड़-मरोड़कर लोगों को गलत जानकारी भी दी जा रही है। ताकि भारतवंशी भ्रमित हो सकें। दूसरी तरफ 28 इंडो-कनैडियन संगठनों ने कनाडा के मंत्री बिल ब्लेयर से ऐसे ही धमकियों की शिकायत की है।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.