Monday, Oct 22, 2018

'तितली' तूफान के कारण अब तक 8 लोगों की मौत, आंध्र और ओडिशा में भारी तबाही

  • Updated on 10/11/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गुरुवार सुबह ओडिशा के तट से टकराने वाले चक्रवाती तूफान 'तितली' ने कुछ ही घंटे में 8 लोगों की जान ले ली। मरने वाले सभी लोग आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम और विजयनगरम जिले के बताये जा रहे हैं। तूफान के कारण ओडिशा, आंध्रप्रदेश और झारखंड में भारी बारिश का सिलसिला जारी है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में तीनों राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया है।

 चक्रवाती तूफान 'तितली' ओडिशा-आंध्रा प्रदेश कट तक पहुंच गया है। 'तितली' तूफान का कारण ओडीशा ने तटीय इलाकों में करीब 150 Km/h की रफतार से हवाएं चल रही हैं जिस वजह से ये तूफान काफी घातक दिखाई दे रहे। तेज रफ्तार होने के कारण बेरहामपुर और गोपालपुर इलाके में कई पेड़ हवा के साथ उड़ गए हैं।

#Visuals from Ganjam's Gopalpur after #TitliCyclone made landfall in the region at 5:30 am today. 10,000 people from low lying areas had been evacuated to govt shelters till last night. #Odisha pic.twitter.com/HEYog0DNe7

— ANI (@ANI) October 11, 2018

राफेल सौदे पर SC के आगे मोदी सरकार पस्त, सीतारमण फ्रांस दौरे पर रवाना

प्रशासन ने की तैयारिया-
बुधवार को मिली जानकारी के बाद ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों में लोगों से घरों को खाली कराना शुरू कर दिया था। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया। उन्होंने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों से तटीय क्षेत्र में निचले इलाकों में रह रहे लोगों से तुरंत घर खाली कराने के लिए कहा था।  

मुख्य सचिव एपी पाधी ने बताया कि गंजम के जिला प्रशासन ने गोपालपुर इलाके में पहले ही लोगों से घरों को खाली कराना शुरू कर दिया था। प्रदेश में चक्रवात ‘तितली’ तूफान के करीब सुबह 5:30 बजे का अनुमान लगाया गया था। बुधवार तक करीब 1,000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया था।

जेट एयरवेज ने वरिष्ठ अधिकारियों को अगस्त का बकाया वेतन दिया, सितंबर के वेतन में होगी देरी  

भारतीय मौसम विभाग ने अनुमान लगाया था कि चक्रवात के प्रदेश पहुंचने के दौरान समुद्र में करीब एक मीटर ऊंची लहरें उठेंगी जिसके चलते इलाकों को खाली कराने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। मुख्य सचिव ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल (ओडीआरएएफ) के कर्मियों को पहले ही संवेदनशील जिलों में तैनात कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.