Tuesday, Oct 04, 2022
-->
tmc gfp made issue illegal construction goa archaeological protected area bjp on target rkdsnt

गोवा के पुरातत्व संरक्षित क्षेत्र में अवैध निर्माण को TMC, GFP ने बनाया मुद्दा, निशाने पर BJP

  • Updated on 11/27/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पुराने गोवा के विरासत क्षेत्र में एक बंगले का निर्माण शनिवार को राजनीतिक खींचतान का केंद्र बन गया। ‘सेव गोवा एक्शन कमेटी ने जहां एक ओर फैसले के खिलाफ अनिश्चितकालीन सत्याग्रह की शुरूआत की वहीं, दूसरी ओर गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) ने माफी की मांग की जबकि तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि वह इस मुद्दे को संसद के शीतकालीन सत्र में उठाएगी। 

दलित हत्याकांड : अखिलेश का शाह पर कटाक्ष- उम्मीद है ये अपराधी बिना चश्मे के भी दिख जाएंगे

तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सदस्य महुआ मोइत्रा ने कहा कि भारत के पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित क्षेत्र में यह अवैध निर्माण है और वह इस मुद्दे को आगामी संसद सत्र में उठाएंगी। उन्होंने इस मुद्दे पर प्रदर्शन कर रहे समूहों से भी शुक्रवार को मुलाकात की थी। महुआ ने आरोप लगाया कि यह जमीन मुंबई के एक भाजपा नेता के पति ने खरीदी है। 

प्रियंका गांधी ने यूपी में कहा- भाजपा की लूट वाली नीति को खत्म करेगी कांग्रेस

दिन में जीएफपी विधायक विजय सरदेसाई ने राज्य के नगर योजना मंत्री चंद्रकांत केवलेकर को पत्र लिखकर तीन दिसंबर तक निर्माण की दी गई अनुमति रद्द करने और इस पूरे घटनाक्रम के पीछे के तथ्यों को सामने लाने की मांग की। केवलेकर ने शुक्रवार को कहा था कि निर्माण को लेकर जांच के आदेश दिए गए थे। उन्होंने कहा कि ‘‘यह मंजूरी मेरे कार्यकाल में नहीं बल्कि बहुत पहले दी गई थी।’’ 

कृषि मंत्री तोमर ने कहा - पराली जलाना अब अपराध नहीं होगा, किसानों की मांग मानी गईं

केवलेकर ने कहा, ‘‘मैंने विरासत क्षेत्र में बंगले के निर्माण के लिए दी गई मंजूरी को वापस लेने का आदेश दिया है।’’ गौरतलब है कि कई लोग, पादरी और गैर सरकारी संगठनों ने पुराने गोवा के सेंट कैटेजन चर्च के पास बंगले के निर्माण का हाल में विरोध किया था।  

नवाब मलिक का दावा - फंसाने की कोशिश कर रही हैं केंद्रीय एजेंसियां 

     


 

comments

.
.
.
.
.