TRAI का नया नियम लागू, आज से चैनल चुनने की मिलेगी पूरी आजादी

  • Updated on 2/1/2019

नई दिल्ली/मानव शर्मा। टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ  इंडिया (ट्राई) के नए नियम शुक्रवार 1 फरवरी से लागू हो जाएंगे। इससे लोगों को टीवी देखने का आनंद उनके अपने अंदाज में मिलेगा। अब एक-एक चैनल चुनने की पूरी आजादी लोगों को होगी।

फ्री टू एअर चैनल तो मुफ्त मिलेंगे ही, जिसके लिए आपको प्रतिमाह डेढ़ सौ रुपए के करीब देने होंगे। इसके बाद पेड चैनल जैसे-जैसे आप अपनी लिस्ट में जोड़ते जाएंगे, उसका पैसा भी जुड़ता जाएगा। इसके लिए डीटीएच ऑपरेटर से संपर्क कर सकते हैं और नए नियम के अनुसार टीवी पैक चुन सकते हैं।

#Budget2019: इस बजट में छोटे कारोबारियों की उम्मीदों पर खरी उतरेगी मोदी सरकार!

अभी कुछ दिन तक और समय है, जिसमें लोग पैक चुन सकते हैं। डीटीएच (डायरेक्ट टू होम) कंपनियों और लोकल केबल ऑपरेटर द्वारा बनाए गए पैक के अनुसार लोग पसंदीदा चैनल चुन सकते हैं जो भी पैसा आपके प्लान में पहले से होगा, वह नए पैक में जोड़ दिया जाएगा। 

बेस पैक में शामिल हैं नि:शुल्क 100 चैनल
ट्राई के नए नियम के अनुसार डीटीएच कंपनियां और लोकल केबल ऑपरेटर उपभोक्ताओं को बेस पैक के बारे में बताएंगे। इसके साथ चैनल किस तरह से चुना जाएगा, इसकी जानकारी भी देंगे। बेस पैक में 100 चैनल शामिल हैं। इसमें दूरदर्शन के 25 चैनल अनिवार्य रूप से शामिल होंगे।

Budget 2019: जानिए कब, कहां और कैसे पेश होगा बजट, ऐसे देख सकते हैं Live

इसका अधिकतम शुल्क 130 रुपए होगा। जो जीएसटी के साथ 154 रुपए के करीब होगा। जो भी व्यक्ति बेस पैक के अलावा चैनल लेना चाहेगा उसे अलग से स्लॉट लेना होगा। एक स्लॉट में 25 से ज्यादा चैनल नहीं आ सकते।

एक स्लॉट के लिए 20 रुपए अलग से देने होंगे। इस राशि को कंपनियों की नेटवर्क कैपेसिटी फीस का नाम दिया गया है। बेस पैक के अतिरिक्त जो चैनल होंगे उनका पैसा बेस मूल्य में जोड़ा जाएगा।

प्रीपेड रीचार्ज आएगा काम
जिन लोगों का डीटीएच एक साल या उससे ज्यादा या कम समय के लिए रीचार्ज करा रखा है। उनका पैसा नए नियम के अनुसार बनने वाले पैसे में शामिल कर लिया जाएगा। ट्राई ने ग्राहकों को भरोसा दिया है कि अगर 1 फरवरी तक नए नियम के अनुसार पैक नहीं चुना है तो भी कोई दिक्कत नहीं है। तीन-चार दिन में लोग पैक चुन सकते हैं। तब तक चैनलों के कार्यक्रम आते रहेंगे।

राम मंदिर पर घिरी थी मोदी सरकार, मजबूरी में जाना पड़ा सुप्रीम कोर्ट के द्वार!

एक फरवरी से पहले जो भी रीचार्ज कराया गया होगा वह काम करता रहेगा और नए पैक के साथ समाहित हो जाएगा। यदि डीटीएच ऑपरेटर को जब लगेगा की आपका बैलेंस ट्राई के नए नियम के अनुसार कम है तो वे ग्राहक को फोन या मैसेज के माध्यम से इसकी जानकारी देंगे। उसके बाद कस्टमर केयर पर बात कर पैक फाइनल किया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.