Sunday, Sep 26, 2021
-->
travellers-from-dubai-uk-contributed-maximum-covid-19-importations-into-india-prsgnt

आखिर भारत में कैसे घुसा जानलेवा कोरोना वायरस? सामने आया ये बड़ा सच....

  • Updated on 9/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन के वुहान शहर शुरू हुए कोरोना वायरस ने दुनियाभर में लाखों लोगों को मौत की नींद सुला दिया। कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित अमेरिका, इटली, स्पेन और ब्राजील जैसे तमाम देश कोरोना महामारी के प्रसार के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराते आए हैं लेकिन इसी दौरान सामने आयी एक रिपोर्ट ने ये साफ़ कर दिया है कि कोरोना चीन की वजह से बल्कि कुछ ख़ास कारणों से दुनिया भर में फैल गया। 

रिपोर्ट के अनुसार भारत में कोरोना वायरस सीधे चीन से नहीं बल्कि कुछ अन्य देशों के जरिए पहुंचा है। इस बारे में आईआईटी की एक रिपोर्ट में पता चला है कि शुरुआत में कोरोना वायरस के अधिकतर केस दुबई और ब्रिटेन जैसे देशों से आए थे।

बिना ट्रायल के लोगों को वैक्सीन दे रहा चीन, 10 हजार लोगों की सेहत से की खिलवाड़

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी)-मंडी की ओर से किए गए विश्लेषण में कहा गया है कि दुबई और ब्रिटेन से आए यात्री भारत में कोरोना संक्रमण लाने वाले प्रारंभिक स्रोत रहे हैं। 'जर्नल ट्रैवल ऑफ मेडिसिन' में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार भारतीय राज्यों में कोरोना मुख्य रूप से दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों की वजह से हुआ था न कि चीन से आने वाले यात्रियों से।

इस स्टडी रिपोर्ट में बताया गया है कि तमिलनाडू, दिल्ली, आंध्र प्रदेश के संक्रमित केसों की समुदाय से बाहर बीमारी फैलने में भूमिका कम रही है, जबकि गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र, केरल, जम्मू-कश्मीर और कर्नाटक ने लोकल ट्रांसमिशन में अहम भूमिका निभाई और उनकी वजह से कुछ केस दूसरे राज्यों तक भी फैले हैं। 

कोरोना प्रोटोकॉल के साथ 96 फीसदी छात्रों ने दी JEE (Advance) परीक्षा, अक्टूबर में आएगा रिजल्ट

इस रिपोर्ट को तैयार करने के लिए रिसर्च टीम ने प्रारंभिक स्रोतों को इकट्ठा करने के लिए कोरोना संक्रमितों के जनवरी से अप्रैल तक के ट्रैवल हिस्ट्री का इस्तेमाल किया और महामारी के शुरूआती चरण में वायरस के फैलने का एक सामाजिक नेटवर्क तैयार किया। 

इस स्टडी में पाया गया कि अधिकतर संक्रमितों का संबंध दुबई और ब्रिटेन से था जिसमें दुबई से 144 और ब्रिटेन से 64 संक्रमित थे।

दिल्ली में कंटेनमेंट जोन 2 हजार के पार, स्वास्थ्य मंत्री बोले इसका मतलब सरकार सक्रिय

इसके साथ ही डेटा के स्टैटिकल मैट्रिक्स से पता चला कि भारत में कोरोना वायरस फैलाने में दुबई और ब्रिटेन की भूमिका सबसे ज्यादा रही है और शुरुआत में कोरोना संक्रमित व्यक्ति इन्हीं देशों से अधिक भारत आए। 25 मार्च से 14 अप्रैल, लॉकडाउन के पहले फेस में तमिलनाडु, दिल्ली, आंध्र प्रदेश में सबसे अधिक कंफर्म केस दर्ज किये गए थे।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.