Monday, Apr 12, 2021
-->
trinamool congress 23rd foundation day cm mamta took a pledge for the people pragnt

TMC के स्थापना दिवस पर बोलीं CM ममता- बंगाल में मां-माटी-मानुष को बढ़ाएंगे आगे

  • Updated on 1/1/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। तृणमूल कांग्रेस (TMC) का 23वां स्थापना दिवस पूरे पश्चिम बंगाल (West Bengal) में मनाया जा रहा है और इस दौरान पार्टी प्रमुख और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने लोगों के लिए काम करने और उनके लिए संघर्ष करने का प्रण लिया। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने राज्य मुख्यालयों में पार्टी का ध्वज फहराया और लोगों की सेवा में अथक परिश्रम के लिए कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त किया।

भाजपा ने संगठन स्तर पर किया बड़ा बदलाव, सौदान और सतीश को मिले अहम पद

TMC के 23वां स्थापना दिवस पर ममता बनर्जी का ट्वीट
ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, 'आज तृणमूल कांग्रेस की स्थापना के 23 वर्ष हो गए, मैं एक जनवरी 1998 में शुरू किए गए सफर को पीछे पलट कर देखती हूं। ये वर्ष बेहद संघर्ष भरे रहे लेकिन इस दौरान हम लोगों के लिए संघर्ष की अपनी प्रतिबद्धता पर डटे रहे और अपने उद्देशयों को हासिल करते रहे।' राज्य में इस वर्ष विधानसभा चुनाव होने हैं और पार्टी ने सत्ता में अपने 10 वर्ष पूरे कर लिए हैं ऐसे में मुख्यमंत्री ने राज्य को बेहतर बनाने के अपने संघर्ष को जारी रखने का प्रण किया।

Corona New Strain: नए साल की पूर्व संध्या पर पश्चिम बंगाल में नहीं लगेगा नाइट कर्फ्यू

कार्यकर्ताओं का किया धन्यवाद
बता दें कि पश्चिम बंगाल में नववर्ष की पूर्व संध्या पर रात में कर्फ्यू नहीं लगेगा क्योंकि राज्य में हालात प्रतिकूल नहीं हैं। उन्होंने लिखा, 'तृणमूल कांग्रेस के स्थापना दिवस पर मैं अपनी मां-माटी-मानुष का और अपने सभी कार्यकर्ताओं का दिल से आभार व्यक्त करती हूं जो बंगाल को प्रतिदिन बेहतर और मजबूत बनाने में लगातार हमारे संघर्ष में शामिल हैं। तृणमूल परिवार आने वाले वक्त में भी इसी प्रण के साथ आगे बढ़ेगा।' पार्टी ने इस अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों के निर्देश पार्टी कार्यकर्ताओं को दिए हैं। गौरतलब है कि बनर्जी ने कांग्रेस से अलग हो कर आज ही के दिन 1998 में तृणमूल कांग्रेस की स्थापना की थी। 

AIIMS निदेशक डॉ गुलेरिया ने कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर दी ये चेतावनी

मुख्य सचिव ने कहा ये
राज्य के शीर्ष अधिकारी ने इस बारे में बताया। पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय ने कहा कि राज्य सरकार हालांकि इस अवसर पर लोगों के जमावड़े को रोकने के लिए हर एहतियाती उपाय करेगी। बंदोपाध्याय ने कहा कि मौजूदा हालात ऐसे नहीं हैं कि रात का कर्फ्यू लगाया जाए। उन्होंने बुधवार को कहा, 'पश्चिम बंगाल में कुछ जगहों पर नववर्ष के जश्न के लिए आयोजन किया जा रहा है। अगर लोग कोरोना वायरस के दिशानिर्देशों और सुरक्षा संबंधी नियमों का पालन करेंगे और पुलिस एवं प्रशासन को सहयोग करेंगे तो भीड़ से बचा जा सकता है।'

Delhi Corona Bulletin: काबू में कोरोना! 24 घंटे में 700 से कम नए केस, 21 ने गंवाई जान

मास्क- सामाजिक दूरी का पालन करने का किया अनुरोध
कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को जरूरत पड़ने पर रात के कर्फ्यू जैसे स्थानीय प्रतिबंध लगाने की अनुमति दी है। कोलकाता में ब्रिटेन से लौटे एक यात्री में नए कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के बाद मुख्य सचिव ने लोगों को एहतियात बरतने और उन्हें मास्क पहनने और सामाजिक दूरी जैसे नियमों का पालन करने का अनुरोध किया।

ये भी पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.