Thursday, Aug 16, 2018

राज्यसभा में पेश नहीं होगा तीन तलाक बिल, अगले सत्र तक के लिए टला

  • Updated on 8/10/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। संसद में मानसून सत्र का आज आखिरी दिन है, केंद्र सरकार आज राज्यसभा में अति महत्तवपूर्ण तीन तलाक बिल पेश कर सकती है। कल इस बिल में कुछ बिल में संशोधन किए हैं, जिसके बाद ये उम्मीद जताई जा रही है कि आज ये बिल पास हो सकता है। 

तीन तलाक बिल में संशोधन पर कैबिनेट की मंजूरी, मजिस्ट्रेट से मिल सकेगी जमानत

live updates:

  • तीन तलाक बिल पर एक राय नहीं बनी
  • राज्यसभा में इस सत्र पेश नहीं होगा ट्रिपल तलाक बिल
  • लोकसभा की कार्यवाही 2.05 बजे तक के लिए स्थगित 
  • तीन तलाक पर अमित शाह ने वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक बुलाई
  • राज्यसभा की कार्यवाही 2.30 बजे तक के लिए स्थगित
  • कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में उठाया राफेल का मुद्दा
  • कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राज्यसभा में राफेल का मुद्दा उठाया
  • तीन तलाक पर हमारा रुख साफ है: सोनिया गांधी 
  • संसद में विपक्ष का प्रदर्शन, शामिल हुईं सोनिया गांधी 
  • हर धर्म में महिलाओं के साथ नाइंसाफी: हुसैन दिलवई
  • संसद: राफेल मुद्दे पर गांधी स्टेच्यू के सामने विपक्ष का प्रदर्शन
  • तीन तलाक बिल को लेकर संसद में बीजेपी की बैठक
  • कांग्रेस को सद‌्बुद्धि आए और तीन तलाक बिल का समर्थन करे: मुख्तार अब्बास नकवी
  • पूरी उम्मीद है तीन तलाक बिल पास होगा: मुख्तार अब्बास नकवी 

वहीं, कल राज्यसभा के उपसभापति चुनाव में एनडीए के हरिवंश की जीत हुई जिसके बाद मोदी सरकार की स्थिति और मजबूत होती दिख रही है और इसका फायदा वह तीन तलाक बिल में भी लेना चाहती है। बता दें कि केंद्र सरकार कल ने तलाक ए बिद्दत यानि एक साथ तीन तलाक देने और निकाल हलाला संबंधी विधेयक में संशोधन करने की मंजूरी दे दी है। इस संशोधित बिल के अनुसार, अपराध गैर-जमानती रहेगा लेकिन मजिस्ट्रेट जमानत दे सकेगा। इसके साध ही पीड़ित के सगे-संबंधी अब शिकायत दर्ज करा सकेंगे।

उपसभापति चुनाव: हरिवंश को PM ने दी जीत की बधाई, कहा- अब सब कुछ 'हरि' के भरोसे

मोदी सरकार द्वारा मुस्लिम महिला विधेयक 2017 में कुछ संशोधन किए गए हैं। साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार इस बिल को पास करवाना चाहती है। लेकिन लगातार विपक्ष द्वारा इस विधेयक की कमियां गिनवाते हुए इसे निशाने पर रखा गया। यह बिल पिछले सत्र में भी पास नहीं हो पाया था। इसी के चलते विपक्ष को सहमत करने के लिए मोदी सरकार ने इस बिल में कुछ संशोधन किए हैं। पिछले सत्र में इस बिल को लेकर लगातार हंगामा देखने को मिला था। सत्ता और विपक्ष में इस मामले पर तीखे हमले बोले गए थे। कांग्रेस द्वारा ये मांग की गई थी कि बिल में पीड़ित महिलाओं को पति के जेल जाने पर गुजारा भत्ता दिया जाए और इसमें संशोधन किया जाए। लेकिन ये निचले सदन में पास नहीं हो पाया था।

#RafaleScam अरुण शौरी ने सरकार पर जमकर बोला हमला, कहा- बोफोर्स से भी बड़ा घोटाला

गौरतलब है कि मानसून सत्र 18 जुलाई से 10 अगस्त तक चलेगा और आज इसका आखिरी दिन है। कई बिलों के साथ तीन तलाक बिल को पास कराना सरकार के बड़े एजेंडों में से एक है, जो 2019 चुनाव में कामयाबी की सीढ़ी के रूप में देखा जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.