Sunday, Nov 28, 2021
-->
tripura agartala police questioned prashant kishor i pack team tmc raised questions rkdsnt

प्रशांत किशोर की आई-पैक टीम से पुलिस ने की पूछताछ, TMC ने उठाए सवाल

  • Updated on 7/26/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पिछले हफ्ते से अगरतला के एक होटल में डेरा डाले हुए चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर की इंडियन पॉलिटिकल ऐक्शन कमेटी (आई-पैक) की एक टीम ने स्थानीय पुलिस ने पूछताछ की है। आई-पैक की यह टीम राज्य की राजनीतिक स्थिति और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के लिये संभावित समर्थन आधार का आकलन कर रही है। टीएमसी की त्रिपुरा इकाई ने इसे 'लोकतंत्र पर हमला' करार दिया है और कहा कि पुलिस ने उन्हें उनके होटल में बंद कर दिया था। 

मोदी सरकार के बाद अब योगी सरकार के खिलाफ आंदोलित किसानों ने खोला मोर्चा

हालांकि, पश्चिम त्रिपुरा के पुलिस अधीक्षक माणिक दास ने दावा किया कि नियमित जांच के तहत अगरतला शहर स्थित होटल में 22 सदस्यीय आई-पैक टीम के सदस्यों से पूछताछ की जा रही है। दास ने संवाददाताओं से कहा, 'करीब 22 बाहरी लोग विभिन्न स्थानों पर घूम रहे थे। चूंकि कोविड प्रतिबंध लागू है, इसलिए हम उनके शहर में आने और ठहरने के कारणों की पुष्टि करने के लिए पूछताछ कर रहे हैं। उन सभी की सोमवार को कोविड की जांच की गई, रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है।’’ तृणमूल कांग्रेस की त्रिपुरा इकाई के अध्यक्ष आशीष लाल सिंह ने हालांकि इसे लोकतंत्र पर हमला करार दिया। 

कोरोना दवाओं की जमाखोरी : सुप्रीम कोर्ट से गौतम गंभीर को लगा झटका 

सिंह ने कहा, 'यह लोकतंत्र पर हमला है। त्रिपुरा का निवासी होने के कारण मैं स्तब्ध हूं। यह त्रिपुरा की संस्कृति नहीं है। त्रिपुरा में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के कुशासन के कारण टीएमसी को मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया और समर्थन से भाजपा घबरा गई है।' आई-पैक की टीम रविवार रात से एक होटल में नजरबंद है। हालांकि, पुलिस इसे नियमित जांच का हिस्सा बता रही है।      उन्होंने कहा कि 23 सदस्यों वाली आई-पैक टीम एक सप्ताह पहले राज्य में पहुंची थी और‘ग्राउंड जीरो’पर सर्वेक्षण करने के लिए कई स्थानों का दौरा भी किया। 

दुनिया में भारत सरकार इकलौती है जिसे पेगासस मामले पर फिक्र नहीं: चिदंबरम

उन्होंने न केवल तृणमूल कांग्रेस के साथ बल्कि अन्य दलों के साथ भी चर्चा की और टीम 2023 में अगले विधानसभा चुनाव में राजनीतिक स्थिति और टीएमसी की संभावना का आकलन कर रही है। हालांकि, जिला पुलिस प्रमुख ने सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों से इनकार किया है कि आई-पैक टीम को हिरासत में लिया गया है और कहा कि यह एक‘नियमित प्रक्रिया’है। 

पेगासस मुद्दा: राज्यसभा सदस्य ने अदालत निगरानी में जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट का किया रुख

संपर्क करने पर, पूर्वी अगरतला थाना के प्रभारी सरोज भट्टाचार्य ने कहा, 'उन्हें हिरासत में नहीं लिया गया। अब हम उनके दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं। वे सभी होटल में हैं।' इस बीच, सूत्रों के अनुसार, घटना की सूचना टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी और पेशेवर राजनीतिक प्रचार रणनीतिकार आई-पैक प्रमुख प्रशांत किशोर को दी गई है। संपर्क करने पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष माणिक साहा ने कहा कि उन्हें इस बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है।

शिवसेना सांसद राउत ने पूछा सवाल- पेगासस की फंडिंग किसने की? 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.