Sunday, Jan 26, 2020
tripura-internet-mobile-data-biplab-kumar-deb-manik-sarkar

त्रिपुरा में नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध के चलते इंटरनेट सेवाएं हुई बंद

  • Updated on 12/10/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। त्रिपुरा (Tripura) में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के मद्देनजर मंगलवार दोपहर दो बजे से 48 घंटों के लिये इंटरनेट (Internet) सेवाएं बंद कर दी गई हैं। आधिकारिक अधिसूचना में यह बात कही गई है।     
जानिए क्या कहते हैं आकड़े, राज्यसभा में कल नागरिकता संशोधन विधेयक पास होगा या फेल ?

अधिसूचना की जारी
अधिसूचना में कहा गया है कि सभी मोबाइल सेवा प्रदाताओं को एसएमएस संदेशों पर भी पाबंदी लगाने के लिये कहा गया है। यह कदम अफवाह फैलने से रोकने के लिए उठाया गया है।  राज्य के गृह विभाग की इस अधिसूचना पर त्रिपुरा सरकार के अतिरिक्त सचिव ए के भट्टाचार्य के हस्ताक्षर हैं। अधिसूचना में कहा गया है, प्रेस संदेशों पर भी रोक रहेगी। इस उद्घोषणा का उल्लंघन भारतीय दंड संहिता की धारा 188, भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम 1885 के संबंधित प्रावधानों, दूरसंचार सेवाओं के अस्थायी निलंबन नियम, 2017 के तहत दंडनीय होगा। आदेश में कहा गया है कि भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम, 1885 की धारा 5 (2) के प्रावधानों के तहत जारी की गई 
नागरिकता बिलः कांग्रेस ने शिवसेना के समर्थन पर तरेरी आंखे, कहा- अब भी समय है नहीं तो...

इंटरनेट पर लगी रोक
अधिसूचना 10 दिसंबर 2019 को दो बजे से पूरे त्रिपुरा में अगले 48 घंटों के लिए सभी मोबाइल सेवा प्रदाताओं के एसएमएस संदेशों और मोबाइल इंटरनेट/डेटा सेवाओं रोक लगाती है। आदेश के अनुसार त्रिपुरा के पुलिस महानिदेशक ने बताया है कि मनु और कंचनपुर क्षेत्रों में आदिवासियों और गैर-आदिवासियों के बीच जातीय संघर्ष को लेकर अफवाहें उड़ाई जा रही हैं। इसने पूरे इलाके में हिंसक स्थिति पैदा कर दी है।   
नागरिकता बिलः औवैसी ने शिवसेना को क्यों बताया- अवसरवादी तो तेज हुई सुगबुगाहट

सार्वजनिक सुरक्षा को खतरा होने की आशंका
आदेश में कहा गया है, इस तरह की घटनाओं ने पूरे राज्य में कानून-व्यवस्था को लेकर गंभीर स्थिति पैदा कर दी है जिससे सार्वजनिक सुरक्षा को खतरा होने की आशंका है। लिहाजा पूरे राज्य की शांति-व्यवस्था को भंग होने से बचाने, उपर्युक्त मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए और कानून-व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखने के लिए अपर सचिव को अधिसूचना जारी करने का निर्देश दिया गया है। पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों की तरह ही पूरे त्रिपुरा में भी मंगलवार को विरोध प्रदर्शन हुआ।      

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.