Thursday, Dec 12, 2019
trivendra-singh-rawat-and-his-cabinet-busy-in-campaigning-government-work-stalled

सीएम समेत आधी कैबिनेट प्रदेश से बाहर, अफसरशाही की मौज

  • Updated on 4/20/2019

देहरादून/ब्यूरो। लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद आचार संहिता की आड़ में प्रदेश में रुटीन का कामकाज भी ठप पड़ा गया है। कैबिनेट के सदस्य चुनाव प्रचार के सिलसिले में देश के अन्य राज्यों में व्यस्त हैं, तो अफसरशाही अपने दफ्तरों में बैठकर चुनावी हार-जीत पर मंथन कर रही है।

उत्तराखंड अभी चुनाव मोड में है। ग्यारह अप्रैल को बेशक यहां लोकसभा चुनाव सम्पन्न हो गये, परंतु आचार संहिता का अड़ंगा 27 मई तक रहेगा। इसकी आड़ में रुटीन का कामकाज भी नहीं हो रहा है। वरिष्ठ नौकरशाहों ने खुद को नीतियों के क्रियान्वयन तक ही सीमित कर लिया है। आचार संहिता में नई नीतियां नहीं बन सकती हैं। इस बहाने वे भी खामोश हैं। अब तक हुए विकास कार्यों के सत्यापन की जरूरत नहीं समझी जा रही है।

केदारनाथ और बदरीनाथ समेत चारधामों में कपाट खुलने से पहले की व्यवस्था का निरीक्षण नहीं हुआ है। निर्माणाधीन आल वेदर रोड का निरीक्षण तक नहीं हो रहा है। यह स्थिति सिर्फ इसलिए है, क्योंकि मॉनिटरिंग का काम नहीं हो रहा है। पिछले दिनों सीएम ने सचिवालय में बैठना शुरू किया।

पिरूल और सोलर नीति की समीक्षा की और आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। उसके बाद उन्होंने प्रवासियों उत्तराखंडियों से भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात की और प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। इससे नौकरशाही भी हरकत में आ गई थी। परंतु दो दिन के कामकाज के बाद सीएम भी चुनाव प्रचार में व्यस्त हो गये। मुख्य सचिव उत्पल कुमार की अध्यक्षता वाली स्क्रीनिंग कमेटी ने जरूरी विकास कार्यों की सूची बनाकर भारत निर्वाचन आयोग को भेजा है।

जब तक आयोग सहमति नहीं देता, तब तक नौकरशाह भी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेंगे। राजस्थान जाने से पहले मुख्यमंत्री ने मीडिया को बताया था कि पुनर्निर्माण कार्यों की अनुमित के लिए एक पत्र चुनाव आयोग को भेजा गया है। अनुमति मिलते ही निर्माण कार्य शुरू करा दिये जाएंगे। फिलहाल रुटीन के काम चल रहे हैं।

कौन कहां कर रहा प्रचार

मुख्यमंत्री चुनाव प्रचार के सिलसिले में राजस्थान में हैं। जल्द ही उनका अन्य राज्यों में जाने कार्यक्रम तय होने वाला है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय पश्चिम बंगाल में हैं। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक उड़ीसा के चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं। सहकारिता मंत्री धन सिंह रावत छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। मंत्री प्रकाश पंत अस्वस्थ हैं। इसके अतिरिक्त पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और नारी सशक्तिकरण मंत्री रेखा कार्य को भी चुनावी ड्यूटी पर अन्य राज्यों में जाना पड़ सकता है।

 
 
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.