Tuesday, Oct 04, 2022
-->
Troubles knock with monsoon, claims of municipal corporation washed away in rain

मानसून के साथ मुसीबतों की दस्तक, बारिश में धुल गए नगर निगम के दावे, खुल गई पोल-पट्टी

  • Updated on 6/30/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। मानसून ने वीरवार को आखिरकार दस्तक दे डाली। दिल्ली से सटी गाजियाबाद की वैशाली एवं 
कौशाम्बी कॉलोनी में मानसून की दस्तक मुसीबतों की दस्तक से कम साबित नहीं हुई। यूपी गेट के पास नाला ओवरफ्लो होने, ज्यादातर सड़कों पर जलभराव तथा मकानों में पानी भरने से नागरिकों की दिनभर टेंशन रही। 

वैशाली-कौशाम्बी में बिगड़े हालात
इस बीच पंपिंग स्टेशन ने भी धोखा दे दिया। सफाई व्यवस्था के दावों की पोल खोलने के लिए क्षेत्रीय पार्षद को खुद मैदान में उतरना पड़ा। कुछ रेजीडेंट्स के साथ वह जगह-जगह दौड़ते रहे। सोशल मीडिया पर बकायदा वीडियो वायरल कर नगर निगम की खामियों को उजागर किया गया। नगरायुक्त को भी वीडियो भेजकर सच दिखाया गया।

सड़कें जलमग्न, घरों में घुसा पानी 
मानसून की पहली बारिश ने गाजियाबाद शहर में हालात खराब कर दिए। वैशाली एवं कौशाम्बी जैसी कॉलोनियां भी जलभराव की मार से पीछे नहीं रहीं। दोनों कॉलोनियों में जगह-जगह जलभराव होने से सड़कों पर आवागमन प्रभावित रहा। घरों में भी बरसाती पानी भरने से रेजीडेंट्स की तकलीफ बढ़ गई। यूपी गेट के पास नाला ओवरफ्लो हो गया। 

पार्षद ने कराया सच का सामना
नागरिकों को जलभराव की समस्या से निजात दिलाने को नगर निगम की तरफ से कोई प्रभावी पहल नहीं की गई। पार्षद मनोज गोयल और कुछ रेजीडेंट्स इधर से उधर दौड़ते-भागते रहे। पार्षद गोयल ने बताया कि यूपी गेट के समीप एलिवेटेड रोड उतरती है। इस रोड के नीचे से नाला गुजर रहा है। यह नाला दिल्ली की तरफ जाता है। 

पंपिंग स्टेशन भी काम नहीं आया
स्वास्थ्य विभाग ने गाजियाबाद सीमा में भी इस नाले की ठीक से साफ-सफाई नहीं की। नतीजन वैशाली-कौशाम्बी में सड़कों की हालत तालाब जैसी बन गई। वैशाली सेक्टर-1 में पंपिंग स्टेशन है। पंपिंग स्टेशन की 4 में से 2 मोटरें खराब हैं। मुसीबत के समय 2 मोटरों ने भी साथ नहीं दिया। 

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
पार्षद गोयल ने वैशाली-कौशाम्बी के हालात की वीडियो बनाकर मेयर आशा शर्मा और नगरायुक्त महेंद्र सिंह तंवर को भेजकर स्वास्थ्य विभाग की कार्यप्रणाली की पोल-पट्टी खोल दी। सोशल मीडिया पर भी यह वीडियो वायरल होता रहा। 

comments

.
.
.
.
.