Saturday, Jul 31, 2021
-->
trp forgery case news broadcasters association also agreed to cbi investigation rkdsnt

TRP फर्जीवाड़ा मामला: CBI जांच को लेकर न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन ने भी भरी हामी

  • Updated on 10/25/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (NBA) ने सरकार से ‘टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट्स’ (TRP) में किये गये कथित फर्जीवाड़े की सीबीआई (CBI) जांच फौरन वापस लेने का शनिवार को अनुरोध किया। एनबीए ने कहा कि जांच जिस गति से रातोंरात सीबीआई को हस्तांतरित कर दी गई, उससे इसके पीछे के इरादे पर संदेह पैदा होता है। एसोसिएशन ने एक बयान में, कथित टीआरपी फर्जीवाड़ा को लेकर मीडिया के खिलाफ उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी पर गंभीर चिंता प्रकट की है। 

सीएम अमरिंदर सिंह के बेटे को ED ने किया तलब, कांग्रेस ने टाइमिंग पर उठाए सवाल

एनबीए ने कहा, 'जांच जिस गति से रातोंरात सीबीआई को हस्तांतरित कर दी गई,उससे इसके पीछे के इरादे पर संदेह पैदा होता है। एक ऐसे व्यक्ति ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई, जिसका कोई अधिकार नहीं बनता है और उसका यह कदम मीडिया, इसे विज्ञापन देने वालों और विज्ञापन एजेंसियों को चुङ्क्षनदा तरीके से निशाना बना सकता है।' रजत शर्मा की अध्यक्षता वाले एनबीए ने कहा, 'हम सरकार से पूरी गंभीरता से वह मामला वापस लेने का अनुरोध करते हैं जो सीबीआई को भेजा गया है।'

चिदंबरम ने 19 लाख रोजगार के वादे को लेकर BJP पर किया कटाक्ष

एनबीए का यह बयान टीआरपी में कथित फर्जीवाड़ा को लेकर सीबीआई द्वारा एक प्राथमिकी दर्ज किये जाने के कुछ दिन बाद आया है। अधिकारियों के मुताबिक यह मामला शुरूआत में एक विज्ञापन कंपनी के प्रवर्तक की शिकायत पर लखनऊ के एक पुलिस थाने में दर्ज किया गया था, जिसे उत्तर प्रदेश सरकार ने सीबीआई को सौंप दिया। एनबीए ने एक बयान में यह भी कहा कि वह मुंबई में हुए घटनाक्रम से बहुत व्यथित है क्योंकि रिपब्लिक टीवी और मुंबई पुलिस के बीच हुई झड़प दो महान संस्थाओं, मीडिया और पुलिस की विश्वसनीयता एवं सम्मान को खतरा पैदा कर रही है। 

BJP के फ्री वैक्सीन के चुनावी वादे पर AAP ने बिहार की जनता को चेताया

एनबीए ने कहा, 'रिपब्लिक टीवी जिस तरह की पत्रकारिता कर रहा है , उसकी हम मंजूरी नहीं देते हैं। हालांकि, रिपब्लिक टीवी एनबीए का सदस्य नहीं है और हमारी संहिता को लेकर आबद्ध नहीं है फिर भी हम उसके संपादकीय कर्मचारियों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी पर सख्त ऐतराज जताते हैं।' एसोसिएशन ने कहा, 'साथ ही में पत्रकारिता में नैतिकता का समर्थन करते हैं और हम निष्पक्ष और संतुलित रिपोर्टिंग को खबर के केंद्र में रखते हैं।' एनबीए ने कहा कि यह न्यूजरूम में बैठे पत्रकारों को निशाना बनाने की किसी भी कोशिश की निंदा करता है लेकिन वहीं दूसरी ओर वह मीडिया द्वारा द्वेषपूर्ण रिपोर्टिंग किये जाने का भी समर्थन नहीं करता। 

हेलीकॉप्टर घोटाला: बिचौलिये राजीव सक्सेना को कोर्ट ने दी अंतरिम जमानत

न्यूज चैनलों के संगठन ने कहा, 'हम बेबुनियाद खबरों की रिपोर्टिंग की निंदा करते हैं...।’’ मुंबई पुलिस से यह अपील की जाती है कि वह सुनिश्चित करे कि पत्रकार इस ‘क्रॉसफायर’ की चपेट में नहीं आएं। एनबीए ने कहा, 'हम रिपब्लिक टीवी के साथ काम कर रहे पत्रकारों से लक्ष्मण रेखा नहीं लांघने की अपील करते हैं, जैसा कि बंबई उच्च न्यायालय ने भी स्पष्ट रूप से टिप्पणी की थी।' गौरतलब है कि हाल ही में मुंबई पुलिस ने टीआरपी में कथित फर्जीवाड़े को लेकर एक मामला दर्ज किया था।

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

 


 

comments

.
.
.
.
.