Sunday, Jun 13, 2021
-->
trump first us president to step on north korea land

उत्तर कोरिया की जमीन पर कदम रखने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बने ट्रम्प

  • Updated on 6/30/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटलः अमेरिका(America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प(U.S. President) ने रविवार को उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन(Kim Jong-un) से रविवार को भारी सुरक्षा के बीच असैन्यीकृत क्षेत्र में मुलाकात की और उत्तर कोरिया के साथ परमाणु कार्यक्रम पर वार्ता बहाल करने पर सहमत हुए। वियतनाम (Vietnam) में फरवरी में दोनों देशों के बीच शिखर वार्ता टूटने के बाद पहली बार दोनों देशों के नेताओं ने आमने- सामने वार्ता की। बैठक के बाद ट्रम्प ने घोषणा की कि दोनों देश आगामी हफ्ते में वार्ता बहाल करने पर सहमत हुए हैं। लेकिन वार्ता के भविष्य और उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु हथियारों का जखीरा खत्म करने की मंशा को लेकर संदेह बरकरार है।

मनीष सिसोदिया: स्कूल आइए इसके बाद बहस करते हैं कि किसका एजूकेशन मॉडल बेहतर 

ट्रंप के उतरते ही किम ने बजाई ताली
इस ऐतिहासिक क्षण के दौरान ट्रंप दक्षिण और उत्तर कोरिया को बांटने वाली कंक्रीट की सीमा पर पहुंचे, जहां किम उनका स्वागत करने आए और दोनों ने हाथ मिलाया। फिर दोनों ने साथ में उत्तर कोरियाई क्षेत्र की ओर रुख किया । ट्रम्प के उत्तर कोरियाई जमीन पर कदम रखते ही किम ने तालियां बजाई और फिर एक बार दोनों ने हाथ मिलाया और तस्वीरें खींचवाई। इसके बाद दोनों फिर दक्षिण कोरिया(South Korea) की ओर बढ़े जहां ‘फ्रीडम हाउस’ में दोनों ने बैठक की। ट्रम्प ने किम से कहा ‘‘ मैं सरहद के पार (उत्तर कोरिया में) कदम रख सम्मानित हूं। विश्व के लिए यह एक महान क्षण है और यहां आना मेरे लिए सम्मान की बात है।’’

बिहार के बाद असम पहुंचा चमकी बुखार, स्वास्थ्य मंत्री ने एक टीम रवाना की

हम पुरानी बातों को खत्म करना चाहते हैः किम
किम ने भी इस पल को सराहते हुए कहा, ‘‘ मेरा मानना है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण अतीत को खत्म करने और एक नया भविष्य बनाने की उनकी इच्छा की अभिव्यक्ति है। ’’ उन्होंने कहा कि वह ट्रम्प की ओर से शनिवार को अचानक मिले आमंत्रण से ‘‘हैरान’’ थे।   ट्रम्प ने कल ही अचानक इस दौरे की जानकारी ट्विटर पर दी थी। ट्रम्प ने पहले दो मिनट के लिए मुलाकात करने की बात कही थी लेकिन यह बैठक 50 मिनट तक चली। ‘फ्रीडम हाउस’ में ट्रम्प के साथ उनकी बेटी इवांका ट्रम्प और दामाद जेरेड कुशनर सहित व्हाइट हाउस के सलाहकार मौजूद थे। 

तेल के बढ़ते दामों को लेकर कांग्रेस ने सरकार की आलोचना की

हम जल्दबाजी नहीं चाहतेः ट्रंप
पत्रकारों को वार्ता के फिर शुरू होने की जानकारी देते हुए ट्रम्प ने कहा, ‘‘ हम जल्दबाजी नहीं चाहते। हम सही कदम उठाना चाहते हैं।’’ उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया(North Korea) पर आॢथक प्रतिबंध जारी रहेंगे, लेकिन उत्तर कोरिया को रियायत ना देने के प्रशासन के पिछले फैसले को बदले जाने की उम्मीद दिखी। उन्होंने कहा कि बातचीत के दौरान ऐसा हो सकता है। ट्रम्प ने पत्रकारों से उत्तर कोरिया के नेता को व्हाइट हाउस आमंत्रित करने की बात भी कही। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं उन्हें तत्काल आमंत्रित करूंगा।’’ 

दिल्ली सरकार ने भीषण गर्मी के कारण बढ़ायी आठवी तक के स्कूल की छुट्टियां

राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि अमेरिका(America) और उत्तर कोरिया(North Korea) के दल ‘‘अगले दो या तीन सप्ताह’’ में उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर वार्ता शुरू करेंगे। इससे पहले ‘आब्जर्वेशन पोस्ट ओहलेट’ (सैन्य चौकी) पर ट्रम्प ने हनोई में फरवरी में बेनतीजा रही शिखर वार्ता की ओर इशारा करते हुए कहा था, ‘‘ बस हाथ मिलाकर एक दूसरे का अभिवादन करेंगे क्योंकि हम वियतनाम के बाद से मिले नहीं हैं।’’ ट्रम्प ने कहा कि स्थिति पहले काफी खतरनाक थी लेकिन हमारी पहली शिखर वार्ता के बाद सारा खतरा टल गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.