Tuesday, Dec 07, 2021
-->
twitter-clarified-on-closing-the-official-accounts-of-congress-and-their-leaders-rkdsnt

कांग्रेस और उनके नेताओं के अधिकारिक अकाउंट बंद करने पर Twitter ने दी सफाई 

  • Updated on 8/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसके और उसके कई नेताओं के ट्विटर अकाउंट को इस माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने बंद (लॉक) कर दिया है, हालांकि ट्विटर ने कहा कि नियमों का उल्लंघन करने पर ये कदम उठाया गया है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही दिल्ली में कथित दुष्कर्म एवं हत्या की पीड़िता नौ वर्षीय बच्ची के माता-पिता से मुलाकात की तस्वीर साझा करने को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट लॉक किया गया था। कांग्रेस ने अपने ट्विटर अकाउंट को बंद किये जाने संबंधी संदेश का स्क्रीन शॉट फेसबुक पोस्ट में साझा किया। उसने कहा, ‘‘जब हमारे नेताओं को जेलों में बंद कर दिया गया, हम तब नहीं डरे तो अब ट्विटर अकाउंट बंद करने से क्या $खाक डरेंगे। हम कांग्रेस हैं, जनता का संदेश है, हम लड़ेंगे और लड़ते रहेंगे।’’ पार्टी ने कहा, ‘‘अगर बलात्कार पीड़ित बच्ची को न्याय दिलाने के लिए आवाज उठाना अपराध है, तो यह अपराध हम सौ बार करेंगे। जय हिंद, सत्यमेव जयते।’’ 

गृह, रक्षा मंत्रालय के बलों के बीच पेंशन असमानता दूर करने वाली याचिका पर सुनवाई से कोर्ट का इनकार

राहुल गांधी का अकाउंट बंद करने के विरोध में युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बी. वी. और पार्टी के कई अन्य नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने अपने ट्विटर हैंडल का नाम बदलकर ‘राहुल गांधी’ कर दिया और प्रोफाइल पिक्चर में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष की तस्वीर लगा दी। कांग्रेस के सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता ने कहा कि पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट और इसके नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के करीब 5000 अकाउंट को ब्लॉक किया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि ट्विटर सरकार के दबाव में आकर कांग्रेस नेताओं के खिलाफ काम कर रहा है। गुप्ता ने कहा, ‘‘ट्विटर निश्चित तौर पर सरकार के दबाव में है क्योंकि जब राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग की ओर से उन्हीं तस्वीरों को (बच्ची के माता-पिता की) साझा किया गया तो उन्हें नहीं हटाया गया।’’ 

सिरसा पर कसा कानूनी शिकंजा! DSGMC खातोें के ऑडिट को लेकर कोर्ट से मिला नोटिस

कांग्रेस का कहना है कि उसके संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला, महासचिव अजय माकन, जितेंद्र सिंह, सांसद मणिकम टैगोर, महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव और कई अन्य नेताओं के ट्विटर अकाउंट लॉक किये गए हैं। इस बारे में पूछे जाने पर ट्विटर के एक प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी के नियम सभी लोगों के लिए विवेकपूर्ण और निष्पक्ष रूप से लागू होते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमने कई ऐसे ट्वीट को लेकर अतिसक्रिय कदम उठाए हैं जिनमें नियमों का उल्लंघन करने वाली तस्वीर पोस्ट की गई थी। आगे भी ऐसे कदम उठाए जा सकते हैं। कुछ सूचनाओं में दूसरों के मुकाबले अधिक जोखिम होता है और हमारा लक्ष्य व्यक्तियों की निजता और सुरक्षा की हमेशा रक्षा करने का होता है।’’ 

चुनाव से पहले यूपी के डिप्टी सीएम केशव मौर्य के खिलाफ कोर्ट ने दिए जांच के आदेश

ट्विटर का कहना है कि अगर कोई ट््वीट उसके नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है और अकाउंट होल्डर की ओर से इसे डिलीट नहीं किया जाता तो माइक्रोब्लॉiगिंग मंच इसे एक नोटिस देने के बाद छिपा देता हैं तथा यह अकाउंट तब तक बंद (लॉक) होता है जब तक संबंधित ट्वीट हटाया नहीं जाता या फिर अपील की प्रक्रिया सफलतापूर्वक अंजाम तक नहीं पहुंचती। उसने कहा कि राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने इस संबंधित विषय (राहुल के ट््वीट) के बारे में सतर्क किया था कि इससे कथित दुष्कर्म की नाबालिग पीड़िता एवं उसके माता-पिता की पहचान उजागर होती है। इस ट्वीट की ट्विटर के नियमों एवं नीतियों तथा भारतीय कानून के हिसाब से समीक्षा की गई।

अकाउंट नियमों के उल्लंघन को लेकर बंद किये गये : ट्विटर 
ट्विटर ने बृहस्पतिवार को कहा कि राहुल गांधी सहित कांग्रेस के कई नेताओं के अकाउंट इस वजह से बंद किये गये कि उन्होंने एक ऐसी तस्वीर पोस्ट की थी जिससे उसके नियमों का उल्लंघन हुआ था और यह कार्रवाई लोगों की निजता की रक्षा और सुरक्षा के लिए की गयी। अमेरिकी माइक्रोब्लॉलिंग साइट ने पिछले हफ्ते राष्ट्रीय राजधानी में नौ वर्षीय एक दलित बच्ची से कथित बलात्कार व उसकी हत्या की घटना के बाद उसके परिवार की तस्वीरें पोस्ट करने को लेकर राहुल और कांग्रेस के कई नेताओं के ट्विटर हैंडल बंद कर दिये। कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट को भी बंद कर दिया गया। संपर्क करने पर, ट्विटर के प्रवक्ता ने बृहस्पतिवार को कहा कि कंपनी के नियमों को उसकी सेवा में सभी के लिए विवेकपूर्ण और निष्पक्ष रूप से लागू किया गया है। 

संसद में मोदी सरकार ने की मनमानी, विपक्ष की उपेक्षा कर पारित कराए विधेयक : कांग्रेस

उन्होंने कहा, 'हमने उन सैकड़ों ट्वीट पर तत्परता के साथ कार्रवाई की है, जिनमें एक ऐसी तस्वीर डाली गयी थी जो हमारे नियमों का उल्लंघन करती है और हम अपने विभिन्न प्रवर्तन विकल्पों के अनुरूप ऐसा करना जारी रख सकते हैं। एक खास तरह की निजी जानकारी में अन्य की तुलना में कहीं अधिक जोखिम होता है, और हमारा उद्देश्य हमेशा लोगों की निजता की रक्षा और उनकी सुरक्षा करना है।' ट्विटर ने कहा कि उसे राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) द्वारा सोशल मीडिया मंच पर एक खास सामग्री को लेकर सतर्क किया गया था, जिसमें कथित यौन उत्पीडऩ पीड़िता (बच्ची) के माता-पिता की पहचान का कथित तौर पर खुलासा किया गया था। 

comments

.
.
.
.
.