Thursday, Oct 28, 2021
-->
two-arrested-pasting-objectionable-posters-against-farmers-leader-rakesh-tikait-rkdsnt

राकेश टिकैत के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्टर चस्पा करने के आरोप में दो गिरफ्तार 

  • Updated on 9/10/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बहराइच जिले की पुलिस ने भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के नेता राकेश टिकैत को जूतों से मारने वाले को 11 लाख रुपये इनाम देने व अभद्र भाषा वाले पोस्टर चस्पा करने के आरोप में एक किसान संगठन के नेता व प्रिंटिंग प्रेस मालिक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सभी स्थानों पर चस्पा पोस्टर भी हटवा दिए हैं।  

जम्मू कश्मीर की मिली-जुली संस्कृति को खत्म करने की कोशिश में RSS, भाजपा: राहुल गांधी

बहराइच के अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) कुंवर ज्ञानंजय सिंह ने शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा, 'संबंधित पोस्टर प्रकरण की जांच से पता लगा कि बहराइच जिले के थाना हुजूरपुर क्षेत्र निवासी लव विक्रम सिंह उर्फ जयनू ठाकुर नामक युवक ने आक्रोश में आकर शहर के अमन गुप्ता की प्रिंटिंग प्रेस से करीब 50 पोस्टर छपवा कर बृहस्पतिवार को शहर के भिन्न-भिन्न स्थानों पर चस्पा दिए थे। 

बाबुल की सलाहकार रह चुकी हैं ममता को चुनावी टक्कर देने वाली BJP प्रत्याशी टिबरीवाल

पुलिस ने जयनू ठाकुर और अमन गुप्ता को बृहस्पतिवार की रात गिरफ्तार कर लिया और इनके खिलाफ निरोधात्मक कार्यवाही की जा रही है। गिरफ्तार अभियुक्त जयनू ठाकुर के बताए सभी स्थानों पर से चस्पा पोस्टर पुलिस ने हटा दिए हैं। इसे लेकर शहर व जिले में कानून व्यवस्था की कोई समस्या नहीं है।' 

मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारों को चलाने के लिए एक समान कानून के लिए SC में याचिका

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के विरोध में जारी आंदोलन में किसान नेता राकेश टिकैत प्रमुख भूमिका निभा रहे रहे हैं। किसान कर्ज मुक्त अभियान संगठन के तथाकथित राष्ट्रीय अध्यक्ष की ओर से बृहस्पतिवार शाम बहराइच के दर्जनों स्थानों पर राकेश टिकैत के फोटो वाले पोस्टर दीवारों पर चस्पे हुए थे। पोस्टर में कथित असंसदीय और आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया गया था। 

चुनाव के मद्देनजर किसान संगठनों ने पंजाब और यूपी के लिए अपनी रणनीति का किया ऐलान

पोस्टर के चस्पा होते ही पुलिस ने सक्रिय होकर जांच शुरू कर दी और इस बीच अपुष्ट सूचना पर पुलिस ने जल्दबाजी में महारानी पद्मावती यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष भवानी ठाकुर को हिरासत में ले लिया, लेकिन तथ्यों का पता चलते ही भवानी ठाकुर को पुलिस ने छोड़ दिया। 

‘हिंदू आईटी सेल’ के विकास पांडे ने गबन मामले में पत्रकार राना अयूब पर केस दर्ज कराया

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.