Tuesday, Oct 04, 2022
-->
two-day-conference-on-pollution-organized-in-delhi-ncr

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण पर आयोजित हुआ दो दिवसीय सम्मेलन

  • Updated on 3/8/2022

नई दिल्ली/पुष्पेंद्र मिश्र। पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय मंत्री भूपेंद्र यादव ने दिल्ली एनसीआर और उससे जुड़े क्षेत्रों में वायु स्व'छता पर आयोजित हुए दो दिवसीय सम्मेलन में कहा कि नागरिकों को अपने आस पास पर्यावरण की देखभाल करनी चाहिए और स्वयं के द्वारा फैलाए गए कचरे के प्रति जिम्मेदारी लेनी चाहिए। धरती मां से जो हम प्राप्त करते हैं उसे कचरों के विभिन्न रूपों में उसे हम वापस लौटाते हैं।

आईआईटी दिल्ली बदलेगा करिकुलम, लर्निंग बाई डूइंग पर रहेगा फोकस : निदेशक

विभिन्न हितधारकों ने दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण समाधान के रखे प्रस्ताव
अगर देश का हर नागरिक खुद के द्वारा फैलाए गए कचरे के प्रति जिम्मेदारी ले और उसका प्रबंधन करे तो यह देश के पर्यावरण के लिए एक बड़ी सेवा होगी। राष्ट्रीय मिशन फॉर क्लीन एयर के सदस्यों समेत हम सभी दिल्ली एनसीआर को प्रदूषण मुक्त वातावरण देने पर काम कर रहे हैं। पीएम 2.5 और पीएम 10 में धूल के कण हमारे फेफड़ों में जाते हैं। इसलिए अगर हम पर्यावरण को सुधारने के लिए काम नहीं करेंगे तो कौन करेगा?

साहित्योत्सव का संस्कृति राज्य मंत्री मेघवाल करेंगे उद्घाटन

हर व्यक्ति खुद के द्वारा फैलाए गए कचरे का प्रबंधन करे यह देश के पर्यावरण की सच्ची सेवा : भूपेंद्र यादव
आयोग ने अब तक राज्य सरकारों, जीएनसीटीडी, पंजाब राज्य सरकार और क्षेत्र में केंद्र और राज्य सरकारों के विभिन्न निकायों सहित एनसीआर में वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए ठोस कदम उठाने के लिए संबंधित विभिन्न एजेंसियों को 61 निर्देश और 7 सलाह जारी की हैं। जिससे इस क्षेत्र में प्रदूषण स्तर को सुधारने में सफलता मिली है। क्योंकि यहां वाहनों द्वारा प्रदूषण, औद्योगिक प्रदूषण, पराली जलाना, सडक़ किनारे धूल उडऩा, ठोस कचरा प्रबंधन, डीजन जनरेटरों का इस्तेमाल आदि होता है।

15 दिन में घोषित होगा नीट यूजी परीक्षा 2022 का शेड्यूल

दो दिवसीय वायु स्वच्छता सम्मेलन में आए सुझावों से दिल्ली एनसीआर की हवा सुधारने में मिलेगी मदद : अश्विनी कुमार
आयोग हर मुद्दे को अत्यंत चिंता के साथ उठा रहा है और इसने प्रभावी ढंग से निपटने के लिए कार्यरत है। दो दिवसीय इस सम्मेलन में पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन रा'य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि अगर हम अपनी धरती प्रकृति का ख्याल नहीं रखेंगे तो प्रकृति हमारी चिंता नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली एनसीआर की वायु स्वच्छता पर आयोजित हुआ यह दो दिवसीय सम्मेलन यहां की वायु गुणवत्ता को सुधारने में मददगार साबित होगा। इस सम्मेलन का आयोजन दिल्ली एनसीआर व उससे जुड़े क्षेत्रों के वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के साथ संयुक्त तत्वावधान में किया। जिसमें वायु प्रदूषण पर कार्य करने वाले 20 से अधिक एनजीओ ने भी हिस्सा लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.