Wednesday, Apr 08, 2020
two suspected corona patients reached tanda from shimla

कोरोना वायरस: शिमला से टांडा पहुंचे कोरोना के दो संदिग्ध मरीज, आइसोलेशन वार्ड में किया शिफ्ट

  • Updated on 3/4/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। चीन (China) से दुनिया में फैले घातक कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर अब भारत में भी आ पहुंचा है। ऐसे में हिमाचल (Himachal) के आईजीएमसी शिमला (igmc shimla) में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज के बाद मेडिकल कॉलेज टांडा में भी दो संदिग्ध मरीज पहुंचे। भर्ती की गई मरीज मां-बेटी को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। 

कोरोना वायरस से लड़ने में चीन को भारत से क्या है उम्मीदें?

सगे संबंधियों में डर का माहौल
ऐसे में अस्पताल में भर्ती संदिग्ध मरीज के परिवार व सगे संबंधियों में डर का माहौल है। सरकार मामले को लेकर अलर्ट मोड पर है। इस मामले को लेकर डॉक्टरों का कहना है फिलहाल अस्पताल में सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध हैं।

CoronaBulletin: सिर्फ एक क्लिक मे पढ़े, कोरोना से जुड़ी आज की ये बड़ी खबरें

संदिग्ध इटली टूर कर 22 फरवरी को लौटीं थी
दरअसल, दोनों संदिग्ध इटली टूर कर 22 फरवरी को दिल्ली लौटीं थी। इसके बाद दोनों को बुखार और गले में संक्रमण की शिकायत हुई। दोनों नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में उपचार कराने गए, जहां से उन्हें कांगड़ा से एंबुलेंस द्वारा टांडा लाया गया है। टांडा स्थित मेडिकल कॉलेज प्रशासन सूचना मिलते ही अलर्ट हो गया। मरीजों की काउंसलिंग के बाद उन्हें आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट किया गया है।

कोरोना वायरस में सियासत: इटली से लौटे राहुल गांधी, भाजपा ने की जांच की मांग

भारत, इंडोनेशिया और थाईलैंड में कोरोना के नए मामलों की पुष्टि
भारत, इंडोनेशिया और थाईलैंड में कोरोना वायरस के नए मामलों की पुष्टि होने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बुधवार को सभी दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों से हरसंभव स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहने और रोकथाम के उपायों को सुनिश्चित करने को कहा। डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र की निदेशक पूनम खेत्रपाल सिंह ने कहा कि देशों की शीर्ष प्राथमिकता पहले मामले, पहले क्लस्टर और सामुदायिक ट्रांसमिशन के पहले सबूत पर तेजी से प्रतिक्रिया करने के लिये तैयार रहने पर होनी चाहिए।

कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए बाबा रामदेव ने बताए ये अचूक उपाय!

दक्षिण पूर्वी एशिया क्षेत्र में कोरोना वायरस का खतरा ज्यादा
शुरुआती रोकथाम के उपाय देशों को ट्रांसमिशन को रोकने में मदद कर सकते हैं। क्षेत्र में 11 में से पांच देशों में कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं। इनमें थाईलैंड में 43, भारत में 28 , इंडोनेशिया में दो, श्रीलंका और नेपाल में एक-एक मामला सामने आया है। सिंह ने संक्रमित लोगों की जल्द पहचान किए जाने, पृथक रखने और लोगों के सम्पर्क में आने से रोकने की बात पर जोर दते हुए कहा कि विश्व और डब्ल्यूएचओ के दक्षिण पूर्वी एशिया क्षेत्र में कोरोना वायरस का खतरा बेहद अधिक है। इसके और मामलों के सामने आने की आशंका है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.