Thursday, Aug 18, 2022
-->
uddhav thackeray says i have shiv sena, no one can snatch it after resigning post of cm

सीएम पद छोड़ने के बाद उद्धव बोले- मेरे पास शिवसेना है, इसे कोई नहीं छीन सकता

  • Updated on 6/29/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कहा कि उनकी रुचि ‘संख्याबल के खेल’ में नहीं है और इसलिए वह अपने पद से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने वेबकास्ट पर कहा, ‘‘मैं विधान परिषद की सदस्यता से भी इस्तीफा दे रहा हूं।’’ ठाकरे ने इसके साथ ही पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे सड़क पर प्रदर्शन करने नहीं उतरें। 

सुप्रीम कोर्ट ने नवाब मलिक, देशमुख को शक्ति परीक्षण में भाग लेने की दी इजाजत 

  •  

ठाकरे ने यह घोषणा उनके नेतृत्व वाली महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार को बृहस्पतिवार को विधानसभा में बहुमत साबित करने संबंधी राज्यपाल के निर्देश पर रोक लगाने से उच्चतम न्यायालय के इनकार के कुछ मिनट बाद की। एमवीए में शिवसेना के साथ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस सहयोगी हैं। एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में अधिकतर विधायकों की बगावत का सामना कर रहे ठाकरे ने कहा कि उन्हें अपना पद छोडऩे पर कोई असफोस नहीं है। शिवसेना अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी संभाल रहे ठाकरे ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे बागी विधायकों को लौटने दें और उनके खिलाफ प्रदर्शन नहीं करें। 

शिवसेना के बागियों के सहारे महाराष्ट्र के CM पद की शपथ ले सकते हैं फडणवीस

इससे पहले करीब एक सप्ताह से गुवाहाटी में डेरा डाले बागी विधायक बुधवार शाम को वहां से विशेष विमान में रवाना हुए और गोवा पहुंचे। उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘शिवसेना और बाला साहेब ठाकरे की वजह से राजनीतिक रूप से बढ़े बागियों को उनके (बालासाहेब) बेटे के मुख्यमंत्री पद से हटने पर खुश और संतुष्ट होने दें।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं संख्याबल के खेल में शामिल नहीं होना चाहता हूं। मैं र्शिमंदा महसूस करूंगा अगर मैं देखूंगा कि पार्टी का एक भी सहयोगी मेरे खिलाफ खड़ा है।’’ उन्होंने कहा कि मुंबई में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और शिवसैनिकों को हिरासत में लिया गया है। ठाकरे ने कहा कि कांग्रेस और राकांपा ने बुधवार शाम को हुई मंत्रिमंडल की आखिरी बैठक में औरंगाबाद का नाम बदलकर संभाजीनगर करने के फैसले का विरोध नहीं किया। 

मोहम्मद जुबैर की शिकायत करने वाले का Twitter अकांउट डिलीट, जांच में जुटी दिल्ली पुलिस 

उन्होंने एमवीए सरकार चलाने के दौरान सहयोग के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार को भी धन्यवाद ज्ञापित किया। ठाकरे ने बागियों का संदर्भ देते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने मुझसे कहा कि अगर बागी चाहते हैं तो कांग्रेस सरकार से हटने और बाहर से समर्थन करने को तैयार है। जिनसे खाई में धकेलने की उम्मीद थी वे ही साथ खड़े हुए जबकि मेरे अपने मेरा साथ छोड़कर चले गए। ’’ 

कांग्रेस को खत्म हो जाना चाहिए ताकि देश में नई राजनीति की शुरुआत हो सके : ओवैसी 

शिवसेना प्रमुख ने कहा, ‘‘आपकी समस्या क्या थी? सूरत और गुवाहाटी जाने के बजाय आप सीधे मेरे पास आ सकते थे और अपनी राय रख सकते थे। उन्होंने कहा, ‘‘शिवसेना आम लोगों की पार्टी है और उसने कई चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना किया है।’’ ठाकरे ने कहा कि वह पार्टी का पुर्निनर्माण करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘मैं शिवसैनिकों का साथ खड़ा रहने के लिए धन्यवाद व्यक्त करता हूं। जो शिवसेना की वजह से राजनीतिक रूप से बढ़े वे असंतुष्ट हैं जबकि जिन्हें कुछ नहीं मिला वे निष्ठावान हैं।’’
 

महाराष्ट्र की ठाकरे सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का फैसला, उद्धव ने दिया इस्तीफा

महाराष्ट्र कैबिनेट बैठक में भी निकाली भड़ास 
इससे पहले महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक संकट और सरकार पर छाए अनिश्चितता के बादलों के बीच राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को कहा कि उन्हें उनके अपनों ने ही धोखा दिया है। ठाकरे ने शाम के वक्त कैबिनेट की एक बैठक की। वहीं दूसरी ओर राज्यपाल द्वारा बृहस्पतिवार को सदन में शक्ति परीक्षण कराए जाने के निर्देश के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार की याचिका पर उच्चतम न्यायालय में सुनवाई हुई। एक अधिकारी ने बताया कि ठाकरे ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों से कहा कि उन्हें उनके अपनों ने ही धोखा दिया है। उन्होंने ठाकरे को उद्धत करते हुए कहा,‘‘ मैंने अगर अनजाने में किसी को चोट पहुंचाई हो तो मैं उसके लिए माफी मांगता हूं।’’ 

मोदी सरकार ने 91 वर्षीय अटॉर्नी जनरल के. के. वेणुगोपाल का कार्यकाल बढ़ाया

अधिकारी ने बताया कि बैठक में ठाकरे के संबोधन के बाद मंत्रियों ने तालियां बजाईं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने इस बात के कोई संकेत नहीं दिए कि वह बृहस्पतिवार को संभावित शक्ति परीक्षण से पहले पद छोड़ सकते हैं। कांग्रेस के मंत्री सुनील केदार ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले ढ़ाई वर्षों में सहयोग देने के लिए अपने मंत्रिमंड़लीय सहयोगियों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि ठाकरे ने हमेशा सब को इज्जत दी है। 

महंगाई की मार : 3.59 करोड़ ग्राहकों ने नहीं भराया एक भी LPG सिलेंडर - RTI

मंत्री ने कहा,‘‘ उन्होंने सहयोग के लिए मंत्रिमंड़ल का आभार व्यक्त किया और कहा कि सहयोग जारी रहेगा।’’ राज्य की महा विकास आघाड़ी सरकार के भविष्य के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा,‘‘ सदन में प्रत्येक विधायक अपनी अंतरात्मा की आवाज पर मतदान करेगा और इस बात को भी ध्यान में रखेगा कि ठाकरे ने कोई प्रशासनिक अनुभव नहीं होने के बावजूद किस प्रकार से कोविड-19 के खिलाफ राज्य की लड़ाई को दिशा दी।’’ कांग्रेस नेता ने कहा,‘‘उद्धव ठाकरे रुकेंगे नहीं और न ही पराजित होंगे।’’ 
 

रुपया नए सर्वकालिक निचले स्तर पर, 79 के पार होने पर विपक्ष के निशाने पर मोदी सरकार

  •  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.