Wednesday, Apr 01, 2020
uddhav thackeray supports caa meeting with pm modi

PM मोदी से मिलने के बाद बोले उद्धव ठाकरे- CAA से डरने की जरूरत नहीं

  • Updated on 2/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) से मुलाकात के बाद कहा कि सी.ए.ए. से डरने की जरूरत नहीं है और एन.पी.आर. से किसी को भी देश से बाहर नहीं निकाला जाएगा। शाहीन बाग (Shaheen Bagh) तथा देश के विभिन्न भागों में सी.ए.ए. (CAA) के खिलाफ होने वाले प्रदर्शनों के बारे में उन्होंने कहा कि जिन्होंने उन लोगों को भड़काया है, उन्हें समझने की जरूरत है।

बीजेपी से नाता तोड़कर महाराष्ट्र में राकांपा और कांग्रेस से गठबंधन सरकार बनाने और मुख्यमंत्री बनने के बाद ठाकरे की मोदी से यह पहली बैठक थी। विभिन्न मसलों पर कांग्रेस के साथ उभरते मतभेदों के बीच शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को यहां सोनिया गांधी से भी मुलाकात की। आधे घंटे से ज्यादा वक्त तक दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात चली। 

शाहीन बाग: तीन दिनों की मुलाकात के बाद भी वार्ताकार नहीं खोल पाए रास्ता

आदित्य ठाकरे भी थे मौजूद
इस दौरान मुख्यमंत्री के बेटे और महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे भी उनके साथ मौजूद रहे। यह पहला अवसर है, जब शिवसेना का कोई प्रमुख कांग्रेस अध्यक्ष के आवास पर पहुंचा। सूत्रों के मुताबिक इस मुलाकात में ठाकरे ने शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की महाअघाड़ी गठबंधन सरकार बनाने में सहयोग के लिए कांग्रेस अध्यक्ष का 

कांग्रेस-शिवसेना में बढ़ते मतभेद
कांग्रेस-शिवसेना में बढ़ते मतभेद के बीच सोनिया से मिले उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘‘मैंने प्रधानमंत्री से सी.ए.ए., एन.पी.आर. और एन.आर.सी. पर चर्चा की। मैंने इस पूरे विषय को अच्छी तरह समझ लिया है। सी.ए.ए. से भारत के किसी नागरिक की नागरिकता नहीं जा रही है। पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यक नागरिक, जिनमें हिन्दू भी हैं, उनको नागरिकता दी जानी है।

शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों से क्यों निराश हैं वार्ताकार?

एन.आर.सी. के बारे में कही ये बात
एन.आर.सी. के बारे में सरकार ने संसद में साफ कर दिया है कि यह पूरे देश में नहीं लाया जाएगा, केवल असम के लिए है। एन.पी.आर. जनगणना का मामला है और उसमें नया कुछ भी नहीं है, पूरे देश में जनगणना हर 10 साल में होती है तो उसमें भी कोई दिक्कत नहीं है। अगर एन.पी.आर. में ऐसा कोई विषय आता है जो किसी के लिए खतरनाक है तो बाद में उस पर विवाद हो सकता है पर अभी ऐसा कुछ भी नहीं है।’’  

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद उद्धव ठाकरे ने की अमित शाह से मुलाकात

'महाराष्ट्र में चलाएंगे 5 साल सरकार'
ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र के मुद्दों पर भी प्रधानमंत्री से चर्चा अच्छी रही। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने उन्हें महाराष्ट्र सरकार को हर तरह का सहयोग देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने गठबंधन सरकार में टकराव से इंकार करते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी। इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस और राकांपा एन.पी.आर. और सी.ए.ए. पर मुख्यमंत्री के रुख को लेकर नाराज हैं।

comments

.
.
.
.
.