Monday, Jun 27, 2022
-->
uddhav-thackeray-warning-to-ranas-we-know-how-to-counter-dadagiri-kmbsnt

हनुमान चालीसा विवाद: CM उद्धव की राणा को चेतावनी- हम जानते हैं 'दादागिरी' का मुकाबला कैसे करना है

  • Updated on 4/26/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा पर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि शिव सैनिक जानते हैं कि दादागिरी का सामना कैसा करना है। एक कार्यक्रम में बोलते वक्त सीएम ठाकरे ने सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा को चेतावनी दी है कि अगर वो इस प्रकार की दादागिरी करेंगे तो उनकी सरकार जानती है कि इसका सामना कैसे किया जाए।

उन्होंने कहा कि अगर आप हनुमान चालीसा पढ़ना चाहते हैं तो घर पर आकर पढ़िए। अगर इस प्रकार से दादागिरी करोगे तो हमें पता है कि उसे कैसे तोड़ना है। 

आम्रपाली की अटकी परियोजनाओं के लिए रुपये जारी, धोनी कोर्ट गए

नवनीत राणा को हाईकोर्ट से राहत नहीं
उधर बम्बई उच्च न्यायालय ने ‘हनुमान चालीसा’ विवाद के सिलसिले में गिरफ्तार निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा द्वारा दायर उस रिट याचिका को सोमवार को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया था। दंपति ने आज सुबह उच्च न्यायालय का रूख कर, शहर में खार पुलिस द्वारा उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने का अनुरोध किया था।   

LIC का IPO 4 मई को खुलकर 9 मई को बंद होगा 

खार पुलिस ने दर्ज की थी एफआईआर
खार पुलिस ने यह प्राथिमिकी,एक पुलिस अधिकारी को उनके कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोकने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की थी। हालांकि, न्यायमूर्ति पी. बी. वराले और न्यायमूर्ति एस. एम. मोदक की पीठ ने कहा कि याचिका में कोई दम नहीं है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मुंबई में निजी आवास के बाहर ‘हनुमान चालीसा’ का पाठ करने की घोषणा के बाद खार पुलिस ने दंपति के खिलाफ दो प्राथमिकी दर्ज की थीं।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.