Friday, Jul 23, 2021
-->
union health minister harsh vardhan said expected to have Corona vaccine in next few month

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का बड़ा ऐलान, कहा- कुछ ही महीनों में कोरोना वैक्सीन आने की उम्मीद

  • Updated on 10/16/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) की ओर से एक राहत भरा ऐलान किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने भारत में अगले कुछ महीनों में कोविड-19 का टीका होने की उम्मीद जताई है। उनका कहना है कि देश अगले छह महीने में लोगों को टीका उपलब्ध कराने की स्थिति में होना चाहिए। उन्होंने ये बात इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी और सेंट जॉन्स एंबुलेंस की वार्षिक आम बैठक के दौरान कही।

दिल्ली: पहले दिन बंद रहे ज्यादातर सिनेमा हॉल, आज से शुरू होंगे सभी PVR

इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी ने उठाए ये कदम
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ युद्ध में कोविड-19 गाइडलाइंस का शक्ति से पालन करना होगा। इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखना होगा। समय-समय पर हाथों को सैनिटाइज करते रहना होगा। इसके साथ ही हर्षवर्धन ने कहा कि इंडियन रेडक्रॉस सोसाइटी ने अपने रक्त केंद्रों के जरिए यह सुनिश्चित करने के लिए व्यापक कदम उठाए हैं कि जरूरतमंद लोगों के लिए रक्त की कोई कमी न पड़े।

कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी राहत, कहा- वायरस के दोगुना होने के समय में आया सुधार

पीएम ने जांच में तेजी लाने के दिए निर्देश
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते बृहस्पतिवार को कोरोना के खिलाफ उच्च स्तरीय तैयारियों और निरंतर निगरानी की आवश्यकता रेखांकित करते हुए स्वास्थ्य अधिकारियों को सीरो सर्वेक्षण के साथ-साथ जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया है। दरअसल, पीएम ने कोविड-19 वैक्सीन विकसित किए जाने व जांच तकनीक के साथ-साथ संपर्कों की पहचान, दवा और इसके उपचार इत्यादि की समीक्षा के लिए आयोजित की गई बैठक के दौरान ये बातें कहीं। इसके अलावा पीएमओ की ओर से जारी बयान के मुताबिक, बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य), प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार, सहित कई वरिष्ठ वैज्ञानिक और अधिकारी उपस्थित थे।

Indian Railways: ट्रेन में सफर से पहले जान लें ये जरूरी नियम नहीं तो हो सकती है जेल

आईसीएमआर ने किया अलर्ट
भारत में एक तरफ जहां कोरोना की वैक्सीन को लेकर काम तेज कर दिया गया है, वहीं इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के मुताबिक देश में एक और बड़ा खतरा नजर आने लगा है। आईसीएमआर प्रमुख ने बीते मंगलवार को कहा कि भारत में कोरोना के रिइंफेक्शन (reinfection) की समयावधि 100 दिन निर्धारित की गई है।

हिमाचल विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार कोरोना पॉजिटिव, खुद को किया होम आइसोलेट

आईसीएमआर के महानिदेशक ने कही ये बात
आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव का कहना है कि रीइफेक्शन की परिभाषा क्या है 90 दिन या 100 दिन अभी इस बात को WHO द्वारा तय नहीं किए गया हैं, लेकिन ये भारत के मामलों में 100 दिन का समय ले रहा है।  भार्गव ने आगे कहा कि ये एंटीबॉडी की लाइफ है। भार्गव के मुताबिक ऐसे कुछ मामलों की पहचान की गई है, जिसमें 2 मुंबई से और एक अहमदाबाद से मामला सामने आया है। डब्लूएचओ की एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में लगभग दो दर्जन मामले रीइंफेक्शन के सामने आ चुके हैं।

मुलायम सिंह यादव की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, गुड़गांव के मेदांता हॉस्पिटल में हुए भर्ती

देश में कोरोना से अब तक 73,65,509 लोग संक्रमित
वहीं दूसरी ओर देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर लगातार जारी है। भारत (India) में कोरोना से 73,65,509 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं इस वायरस की चपेट में आने से अब तक 1,12,146 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। हालांकि राहत की बात ये है कि 64,48,658 इस वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों की संख्या सक्रिय मामलों की संख्या से अधिक है। सक्रिय मामलों (Active Cases) की कुल संख्या 8,03,531 है।  
 

comments

.
.
.
.
.