Monday, Nov 18, 2019
union minister ravi shankar prasad slams congress for opposing savarkar

केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने सावरकर के विरोध को लेकर कांग्रेस पर किया कटाक्ष

  • Updated on 10/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वीर सावरकर (veer sawarkar) को जब से बीजेपी (bjp) ने भारत रत्न देने का वायदा किया है तब से भारतीय राजनीति में भूचाल आ गया है। बीजेपी ने महाराष्ट्र (maharashtra) में संकल्प पत्र जारी करते हुए घोषणा की थी कि वे सावरकर को भारत रत्न देने के संकल्प को पूरा करेगी। विपक्षी पार्टयों ने सावरकर के आजादी में भूमिका को लेकर भी सवाल उठाया है। इस बीच केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने इस बहस में कूदते हुए कहा है कि कांग्रेस अपनी सीमित सोच के चलते भारत रत्न को गांधी परिवार तक समेट कर रखना चाहती है। उन्होंने सावरकर को भारत रत्न देने के वायदे को सही बताते हुए इसे मोदी सरकार का बहुत बड़ा फैसला बताया है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग सावरकर के देशभक्ति पर सवाल उठाते है जो कतई सही नहीं है।
 

राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी, फैसला 17 नवंबर से पहले

कांग्रेस ने सावरकर को भारत रत्न देने के फैसले पर उठाया सवाल
इससे पहले कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष तिवारी ने बीजेपी के वीर सावरकर को भारत रत्न देने की घोषणा के बाद कहा है कि जो व्यक्ति महात्मा गांधी के हत्या के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है,उसे आज महिमामंडित किया जा रहा है। उन्होंने बीजेपी और मोदी के गांधी प्रेम पर भी सवाल उठाया है। लेकिन सावरकर गांधी के हत्या के आरोप से बरी भी हो गए थे। कांग्रेंस के सावरकर को भारत रत्न का विरोध करने पर रवि शंकर प्रसाद ने आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस को देश भक्त सावरकर पर सवाल उठाने का हक नहीं है। सावरकर बहुत बड़े देशभक्त थे। कांग्रेस को सावरकर को समझना पड़ेगा। उन्होंने कांग्रेस को सलाह दी है कि सावरकर का विरोध करने से पहले उनके जीवन भर के योगदान को समझ लेना चाहिये।

स्वामी चिन्मयानंद की विडियो क्रोंफ्रेसिंग के जरिए कोर्ट में हुई पेशी

बीजेपी ने महाराष्ट्र विधानसभा के लिये जारी घोषणापत्र में किया है वायदा
मालूम हो कि बीजेपी ने महाराष्ट्र विधानसभा के लिये घोषणा पत्र जारी करने के समय वीर सावरकर, सावित्री बाई फुले और ज्योति राव फुले को भारत रत्न देने का वायदा किया है। जिस पर देशव्यापी बहस शुरु हो गई है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.