Friday, Sep 30, 2022
-->
United Kisan Morcha 75-hour sit in begins: Rakesh Tikait said the fight for farmers will continue

संयुक्त किसान मोर्चा का 75 घंटों का धरना शुरू: टिकैत बोले, किसानों के लिए लड़ाई जारी रहेगी

  • Updated on 8/18/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। तिकोनिया कांड मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी समेत विभिन्न मांगों को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा की अगुवाई में किसानों ने बृहस्पतिवार सुबह राजापुर मंडी समिति परिसर में 75 घंटे लंबा धरना शुरू कर दिया।   भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भी इस धरने में शामिल हुए। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि किसानों को न्याय दिलाने की लड़ाई जारी रहेगी। तिकोनिया कांड को लेकर टेनी की बर्खास्तगी के साथ-साथ न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने के लिए कानून भी किसानों का एक बड़ा मुद्दा है।   

उद्योगपति गौतम अडानी को मोदी सरकार ने दी ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा

    भारतीय किसान यूनियन तथा अन्य अनेक कृषक संगठनों के संयुक्त मोर्चे द्वारा राजापुर मंडी समिति परिसर में किए जा रहे किसानों के इस धरने में उत्तर प्रदेश के साथ-साथ उत्तराखंड, पंजाब और हरियाणा के भी बड़ी संख्या में किसान शामिल होने के लिए आ रहे हैं। टिकैत ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पिछली आठ अगस्त को संसद में पेश किए गए बिजली संशोधन विधेयक के जरिए विद्युत आपूॢत व्यवस्था को निजी हाथों में सौंपने पर तुली है। भारतीय किसान यूनियन और संयुक्त किसान मोर्चा इसका पुरजोर विरोध करेंगे, क्योंकि इस विधेयक के कानून बन जाने से कृषि क्षेत्र पर खराब असर पड़ेगा। भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के जिलाध्यक्ष और इस धरने के स्थानीय संयोजक दिलबाग सिंह संधू ने बताया कि भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत, राष्ट्रीय संगठन सचिव भूदेव शर्मा तथा संगठन के अन्य प्रमुख नेता बुधवार को ही धरने के लिए यहां पहुंच गए थे।   

रोहिंग्या मुसलमानों को फ्लैट मुहैया कराने के मुद्दे पर गृह मंत्रालय ने दी सफाई

    संयुक्त किसान मोर्चा के अन्य अनेक नेता भी इस 75 घंटे के धरने में शामिल होंगे। इस धरना-प्रदर्शन के लिए जिला प्रशासन से इजाजत के सवाल पर संधू ने कहा कि उन्होंने इस बारे में प्रशासन को सूचित कर दिया था। हालांकि, न तो कोई लिखित अनुमति मांगी गई और ना ही उन्हें मिली।  जिला प्रशासन ने सुरक्षा, साफ-सफाई और पेयजल की व्यवस्था की है। धरना-प्रदर्शन कर रहे किसानों के बैठने के लिए मंडी समिति परिसर में छह शेड लगाए गए हैं। इनमें से एक शेड को मुख्य सभा स्थल में तब्दील किया गया है जबकि किसानों के लिए लंगर का इंतजाम भी किया गया है।  पंजाब से आई महिलाएं और पुरुष प्रदर्शनकारियों के लिए भोजन, चाय और पानी का इंतजाम कर रहे हैं। संपूर्ण प्रदर्शन स्थल किसान संगठनों के झंडे और बैनर से पटा हुआ है।    

बिलकिस बानो मामले के दोषियों को माफी छूट, गुजरात सरकार ने दी सफाई

गौरतलब है कि पिछले साल तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जिले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के गांव जा रहे उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे का किसानों द्वारा विरोध करने के दौरान तिकोनिया गांव में हुई ङ्क्षहसा में चार किसानों समेत आठ लोग मारे गए थे। इस मामले में टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को बतौर मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार किया गया है। किसानों की मांग है कि इस मामले को लेकर टेनी को मंत्री पद से बर्खास्त किया जाए।

 

 

 

 


 

comments

.
.
.
.
.