Sunday, Apr 18, 2021
-->
unnao incident is shocking third girl should be taken to delhi for treatment priyanka prshnt

उन्नाव: प्रियंका गांधी बोली, दिल दहलाने वाली है घटना, तीसरी लड़की को इलाज के लिए पहुंचाया जाए दिल्ली

  • Updated on 2/18/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने उत्तर प्रद्रेश (UP) के उन्नाव (Unnao) में दो लड़कियों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने और एक लड़की के बेसुध पाए जाने की घटना को दिल दहला देने वाली करार दिया और कहा कि तीसरी लड़की को उपचार के लिए दिल्ली पहुंचाया जाए। उन्होंने ट्वीट किया, उन्नाव की घटना दिल दहला देने वाली है। लड़कियों के परिवार की बात सुनना एवं तीसरी बच्ची को तुरंत अच्छा इलाज मिलना जांच - पड़ताल एवं न्याय की प्रक्रिया के लिए बेहद जरूरी है। 

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने कहा, खबरों के अनुसार पीड़ित परिवार को नजरबंद कर दिया गया है। यह न्याय के कार्य में बाधा डालने वाला काम है। आखिर परिवार को नजरबंद करके सरकार को क्या हासिल होगा। प्रियंका ने कहा, उप्र सरकार से निवेदन है कि परिवार की पूरी बात सुनें एवं त्वरित प्रभाव से तीसरी बच्ची को इलाज के लिए दिल्ली शिफ्ट किया जाए।

'मेट्रो मैन' ई श्रीधरन की BJP में शामिल होने की अटकले तेज, 21 फरवरी को ले सकते हैं सदस्यता

दलित समुदाय से आती है तीनों लड़कियां
गौरतलब है कि उन्नाव जिले के असोहा इलाके के बबुरहा गांव के बाहर बुधवार को दलित समुदाय की तीन लड़कियां बेसुध मिलीं। अस्पताल ले जाने पर उनमें से दो को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बताया कि बबुरहा गांव में एक ही परिवार की 15,14 और 16 साल की तीन लड़कियां अपराह्न करीब तीन बजे जानवरों के लिए चारा लेने घर से निकली थीं। जिन लड़कियों  को उठाया गया था। वह तीनों लड़कियां एक ही दुपट्टे से बंधी मिली थी। जिनमें से 2 की मौत हो चुकी है और एक को कानपुर में इलाज के लिए रेफर किया गया है। बता दें तीनों लड़कियां दिन में खेत में चारा लेने गई थी।   

तीनों एक ही गांव की रहने वाली हैं और दलित समुदाय से आती है। बुधवार को तीनों एक साथ खेत से चारा लेने गई थी। जिसके बाद से ही वह गायब थी। शाम को जब उनके पिता उन्हें ढूढ़ने गए तो उन्हें तीनों अचेत अवस्था में एक पेड़ से दुपट्टे से बधे मिल थे। जिसके बाद उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज की है। 

PM Kisan scheme: पीएम किसान योजना के 33 लाख फर्जी लाभार्थियों पर होगी कार्रवाई

पुलिस ने परिवार को किया नजरबंद
सूचना मिली है कि पुलिस ने अभी तक पीड़ित परिवार को नजरबंद किया हुआ है। पुलिस ने परिवार को किसी से बात करने की इजाजत नहीं दी है। मीडिया को भी परिवार से दूर रखा जा रहा है। पुलिस ने इसके अलावा घटना स्थल को भी कब्जे में ले लिया है। पुलिस अब सिर्फ पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है ताकि मामले को आगे बढ़ाया जा सके। पोस्टमार्टम के लिए चार डॉक्टरों का एक पैनल भी बनाया गया है। जो इसकी जांच करेगा।  

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.