Saturday, Jan 25, 2020
unnao rape case:kuldeep singh senger supreme court

Unaao rape case: पीड़िता के वकील का आरोप, CBI ने जानबूझकर सेंगर को ओरापियों में नहीं किया शामिल

  • Updated on 8/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उन्नाव रेप केस (Unnao rape case) में पीड़िता के वकील ने सीबीआई (CBI) पर एक बड़ा आरोप लगाया है। पीड़िता के वकील ने कहा है कि सीबीआई ने पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके भाई को जानबूझ कर आरोपियों में शामिल नहीं किया है। बता दें कि इस पूरे मामले पर कोर्ट ने 13 अगस्त के लिए अपने निर्णय को सुरक्षित कर लिया है। 

जम्मू-कश्मीर: राहुल ने मोदी पर साधा निशाना कहा, PM बतायें राज्य में कैसे हैं हालात

बता दें की उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद दिल्ली की एक अदालत में सुनवाई के दौरान पीड़िता के वकील ने यह दलील दी थी। इसके पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को 45 दिन में खत्म करने का निर्देश दिया है। पीड़िता के पिता की हत्या वाले मामले पर सीबीआई की तरफ से पेश वकील भारतेन्दु ने कहा कि जांच अधिकारी की तरफ से ऐसा जानबूझ कर नहीं किया गया है।  
CWC बैठक में हुआ फैसला- सोनिया गांधी होंगी अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष

उन्होंने कहा कि एजेंसी ने पूरी निष्पक्षता के साथ के साथ साक्ष्यों को इकट्टा किया गया है। और अभी तक सीबीआई को आरोपी  विधायक और उसके भाई के खिलाफ कुछ नहीं मिला है। और सुनवाई के दौरान एजेंसी को इनके खिलाफ कुछ मिलता है तो पूरक आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा। इस पूरे मामले में पीड़िता के वकील का कहना है कि अधिकारी इस मामले में जांच समुचित ढ़ग ने नहीं कर रहे हैं। 

कश्मीर में तनाव के बीच पर्यटन से जुड़े कारोबारियों को सता रही है फ्यूचर की चिंता

 गौरतलब हो कि 8 अप्रैल 2018 को पीड़िता के पिता को पुलिस ने अवैध रुप से हथियार रखने के जुर्म में गिरफ्तार किया था। और गिरफ्तारी के कुछ दिनों बाद पीड़िता के पिता के पुलिस कस्टडी में मौत हो गयी थी। जिसका आरोप विधायक और उसके भाई पर लगा था। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.