Unnao Rape Victim Accommodation Delhi Commission for Women Court Order

उन्नाव रेप पीड़िता के लिए घर की व्यवस्था करे दिल्ली महिला आयोग- कोर्ट

  • Updated on 10/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट (Delhi Tis Hajari Court) ने दिल्ली महिला आयोग (Delhi Commission for Women) को आदेश दिया है कि वो उन्नाव रेप केस  (Unnao Rape Case)) की पीड़िता के लिए दिल्ली (Delhi) में आवास की व्यवस्था करें। इसके लिए कोर्ट ने दिल्ली महिला आयोग को 7 दिन का समय दिया है। रेप पीड़िता की बहन से दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पूछताछ पूरी कर ली गई है। 

गुरुवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पीड़िता की बहन ने अपना बयान दर्ज कराया। पीड़िता की बहन से ये पूछता साल 2018 में पुलिस हिरासत में हुई पीड़िता के पिता की मौत के मामले में की गई। 

उन्नाव रेप केस: पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में मौत मामले में बहन से हो रही पूछताछ

आर्म्स एक्ट के तहत किया था मामला दर्ज
बता दें कि 4 जून, 2017 को बीजेपी विधायक (BJP MLA) कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) पर रेप का आरोप लगाया गया, लेकिन पुलिस (Police) ने विधायक के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया। 8 अप्रैल, 2018 में उसी शिकायत करने वाली लड़की के पिता के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उनको तुरंत गिरफ्तार कर लिया। ठीक एक दिन बाद पुलिस की पिटाई की वजह से कस्टडी में ही पीड़िता के पिता की मौत हो गई।  

उन्नाव रेप मामला: वकील ने कोर्ट कार्यवाही सोशल मीडिया पर डाली, पड़ी फटकार

कार्यवाही की जानकारी सोशल मीडिया पर
दिल्ली की एक अदालत ने इस मुकदमे की बंद कमरे में चल रही कार्यवाही की जानकारी सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए एक पक्ष के वकील को फटकार लगाई थी। जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने वकील को मामले की कार्यवाही ऑनलाइन करने के खिलाफ चेतावनी दी। मुकदमे में अभी अभियोजन पक्ष की गवाही दर्ज की जा रही है।

comments

.
.
.
.
.