Sunday, Nov 27, 2022
-->
up accusations of officials of mosques of ghazipur preventing the loudspeaker prshnt

UP: गाजीपुर के मस्जिदों का अधिकारियों पर आरोप, कहा- लाउडस्पीकर पर अजान करने से रोक रहा प्रशासन

  • Updated on 4/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गाजीपुर (Ghazipur) जिले में कई मस्जिदों ने पुलिस और प्रशासन पर आरोप लगाया है कि अधिकारियों ने यहां के मस्जिदों में लाउडस्पीकर पर घोषणा या आजान करने पर रोक लगाने के आदेश दिये हैं। दरअसल, लाउडस्पीकर पर अजान करना रमजान के पवित्र महीने में उपवास की शुरुआत और अंत का प्रतीक माना जाता है। वहीं जिला और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने मस्जिदों द्वारा लगाए गए आरोप से साफ इनकार कर दिया है।

विधायकों की खींचतान से परेशान शिवराज सिंह चौहान, कैसे करेंगे मंत्रिमंडल का विस्तार

अधिकारियों के तरफ से मौखिक आदेश का दावा
दरअसल गाजीपुर के जामिया थाना क्षेत्र में एक मस्जिद के प्रभारी जाहिद खान का कहना है कि कुछ पुलिसकर्मी शनिवार को करीब 3:45 बजे मस्जिद में आए थे और उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों का आदेश है कि मस्जिद में लाउडस्पीकर के जरिए किसी तरह की कोई घोषणा या आजान नहीं की जाएगी। जाहिद खान ने कहा, कि जब पुलिसकर्मियों से लिखित आदेश की मांग की गई तो पुलिसकर्मियों का कहना था कि डीएम ने ये आदेश मौखिक तौर पर दिया है, जिसके बाद उन्होंने कहा कि अगर हम इस आदेश को नहीं मानते हैं तो हमारे खिलाफ कार्यवाही की जाएगी, जिसके बाद आज लाउडस्पीकर पर कोई घोषणा नहीं की है।

इस मामले में दारुल उलूम फिरंगी महल के प्रवक्ता सुफियान निजामी का कहना है, कि उन्हें पूरे दिन गाजीपुर में इमामो के फोन आए हैं। उन्होंने कहा है, कि रमजान के समय लाउडस्पीकर पर घोषणा करना और महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि अजान से लोगों को उपवास शुरू करने और खत्म करने के समय के बारे में पता लगता है।

कोरोना संकट: गृह मंत्रालय का बड़ा बयान- विदेश में मरने वाले भारतीयों के शव वापस लाए जा सकते हैं

एसपी ने आदेश से किया इंकार
वहीं इस पूरे मामले पर गाजीपुर के एसपी ओमप्रकाश सिंह का कहना है की जिले में अजान को लेकर कोई आदेश जारी नहीं किया गया है, उन्होंने बताया कि राज्य में बाकी जिलों की तरह हीयहां भी लॉकडाउन के आदेश जारी हैं। इसके अलावा फर्रुखाबाद के सिटी मजिस्ट्रेट अशोक मौर्य का कहना है कि डीएम ने आदेश दिया था, मस्जिदों से लाउडस्पीकर पर घोषणा या माइक आदि का उपयोग निषेध है। यह आदेश डीएम की ओर से मौखिक तौर पर दिया गया था। मौर्य ने कहा कि डीएम ने कहा है कि मस्जिदों को किसी तरह की घोषणा या माइक इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस पूरे मामले पर फर्रुखाबाद के डीएम मानवेंद्र सिंह ने कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया।

डायमंड प्रिंसेज क्रूज के बाद अब कोस्टा अटलांटिका से फैला कोरोना संक्रमण

गाजीपुर में मस्जिदों को लेकर ऐसा कोई आदेश नहीं
अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री, मुस्लिम वक्फ और हज मोहसिन रजा ने कहा कि उन्हें इस बारे में सूचित किया गया था कि गाजीपुर में ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। उन्होंने कहा मैंने गाजीपुर के डीएम से बात की है और उन्होंने मुझसे कहा है, कि ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। यह बिल्कुल भी सच नहीं है उन्होंने साफ कर दिया है कि कुछ शरारती तत्व संकट के समय राजनीति कर रहे होंगे। फर्रुखाबाद के बारे में मोहसिन रजा ने कहा कि यह जिले के हॉटस्पॉट क्षेत्रों में शामिल हो सकता है मुझे ऐसे किसी आदेश के बारे में जानकारी नहीं है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.