Monday, Jan 21, 2019

नकल माफियाओं पर रासुका के तहत होगी कार्रवाई- दिनेश शर्मा

  • Updated on 1/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश में होने वाली बोर्ड की परीक्षाओं के मद्देनजर सरकार ने मंगलवार को कहा कि नकल माफियाओं के खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जायेगी। उप्र बोर्ड की परीक्षाएं सात फरवरी से आरंभ होंगी और 16 दिन तक चलेंगी। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा, ‘‘बिना नकल के परीक्षा कराना हमारा संकल्प है, नकल से बच्चों का भविष्य बर्बाद होता है, जिसे हम किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।

थावर चंद गहलोत ने लोकसभा में पेश किया सवर्ण आरक्षण बिल, बहस जारी

बोर्ड परीक्षाओं के दौरान नकल कराने वाले गिरोह के खिलाफ हम सख्त कार्रवाई करेंगे। जो भी लोग नकल कराने, उत्तर पुस्तिकायें बदलने और प्रश्नपत्र लीक कराने में शामिल होंगे हम उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई करने में भी नहीं हिचकेंगे।‘‘ शर्मा के पास माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग भी है। उन्होंने कहा कि जो परीक्षा केंद्र पूर्व में नकल करवाने के लिये बदनाम है उन पर कड़ी नजर रखी जायेगी।

दो परमाणु संपन्न देशों के लिये युद्ध आत्महत्या की तरह- इमरान खान

उन्होंने कहा कि नकल पर रोक लगाकर उप्र सरकार का मकसद शिक्षा के स्तर को सुधारना है। प्रदेश की योगी सरकार परीक्षाओं में नकल रोकने के लिये अनेक उपाय कर रही है। उप मुख्यमंत्री शर्मा ने कहा, ‘‘उप्र में भाजपा के आने से पहले जो माहौल था उसके बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि उप्र में नकल के टेंडर होते हैं। भाजपा के सत्ता में आने के बाद नकल पर रोक लगाने के लिये कई महत्तवपूर्ण कदम उठाये गये हैं।‘‘  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.