Friday, Aug 19, 2022
-->
UP Police stopped Sidhus convoy in Saharanpur threatened to sit on hunger strike albsnt

सहारनपुर में सिद्धू के काफिले को यूपी पुलिस ने रोका, भूख हड़ताल पर बैठने की दी धमकी

  • Updated on 10/7/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में जब से किसानों की कारों से कुचलकर मौत हुई है तब से प्रदेश ही नहीं देश भर में कांग्रेस सक्रिय हो चुकी है। इसी कड़ी में पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू अपने समर्थकों के साथ यूपी में घुसने का प्रयास कर रहे थे,लेकिन उन्हें सहारनपुर से आगे बढ़ने पर रोक दिया गया है।

सिर्फ 48 घंटे बाकी : दुनियाभर में नई पहचान बनाएगा गाजियाबाद

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने लखीमपुर में पीड़ित परिवार से मिलकर अपनी संवेदना जाहिर की। वहीं सिद्धू समेत कांग्रेस नेताओं को तब हिरासत में लिया गया जब वे लखीमपुर खीरी जाने का प्रयास कर रहे थे। इस दौरान सिद्धू और पुलिस अधिकारियों में बहस भी हुई। सिद्धू ने कहा कि केंद्रीय मंत्री के बेटे को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। उन्होंने बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यदि कल तक आशिष मिश्रा को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वे भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

HC के रिटायर्ड जज करेंगे लखीमपुर खीरी हिंसा की जांच, रिपोर्ट दो महीने में

मालूम हो कि उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में धारा 144 लागू है। राज्य सरकार ने पहले ही पांच लोगों से ज्यादा लोगों को जाने पर रोक लगा रखी है। ऐसे में सिद्धू अपने पूरे पलटन के साथ यूपी में प्रवेश करना चाहते थे। लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी है। इससे पहले लखीमपुर खीरी तब चर्चा में आया जब बीते दिनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मोर्या के कार्यक्रम का विरोध कर रहे किसानों की मौत कार से कुचलने से हो गई। किसानों ने इस हादसे के लिये केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अज यमिश्रा टेनी के बेटे आशिष मिश्रा को दोषी बता रहे है। हालांकि मामले में अब तक दो लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है।  

 

comments

.
.
.
.
.