Sunday, Jan 23, 2022
-->
up tit exam question paper leaked opposition accuses yogi bjp govt future of youth rkdsnt

TIT परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक : विपक्ष के निशाने पर आई योगी सरकार, लाखों परीक्षार्थी बेहाल

  • Updated on 11/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। प्रश्नपत्र लीक होने की वजह से रविवार को होने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के रद्द होने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश सरकार अभ्यार्थियों के साथ खड़ी है, जबकि विपक्षी दलों ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए इसे युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ बताया। उप्र टीईटी परीक्षा के संदर्भ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया, 'उप्र टेट का पेपर लीक करने वाले गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए जा चुके हैं।’’  

मधुमेह देखभाल के लिए सरकार का सब्सिडी देना जरूरी: CJI रमण

उन्होंने कहा कि दोषियों को चिह्नित कर त्वरित कार्रवाई की जा रही है। योगी ने कहा 'दोषियों के विरुद्ध गैंगस्टर ऐक्ट के तहत मामला दर्ज कर उनकी संपत्ति भी जब्त की जाएगी।’’ एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री ने कहा,‘‘सरकार अभ्यार्थियों के साथ खड़ी है। एक माह के अंदर पारदर्शी तरीके से पुन: परीक्षा आयोजित होगी। किसी भी अभ्यर्थी से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा।’’ उन्होंने कहा, 'परीक्षा देने वाले अभयार्थियों को आने-जाने के वास्ते परिवहन निगम की बसों में निशुल्क यात्रा की सुविधा दी जाएगी।’’ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने इसे लाखों युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ बताया। 

राकेश टिकैत ने की किसानों के लिए MSP गारंटी के लिए कानून की मांग

कांग्रेस महासचिव एवं उत्तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाद्रा ने रविवार को ट्वीट किया भर्तियों में भ्रष्टाचार, पेपर आउट ही भाजपा सरकार की पहचान बन चुकी है। आज यूपी टेट का पेपर आउट होने की वजह से लाखों युवाओं की मेहनत पर पानी फिर गया।’’ प्रियंका ने इसी ट्वीट में कहा 'हर बार पेपर आउट होने पर योगी आदित्यनाथ जी की सरकार ने भ्रष्टाचार में शामिल बड़ी मछलियों को बचाया है, इसलिए भ्रष्टाचार चरम पर है।’’ सपा प्रमुख और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को ट्वीट किया ' उप्र टेट 2021 की परीक्षा का पेपर लीक होने की वजह से रद्द होना बीसों लाख बेरोजगार अभ्यथियो के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। भाजपा सरकार में पेपर लीक होना, परीक्षा व परिणाम रद्द होना आम बात है।’’ 

सावरकर की तारीफ में केंद्रीय सूचना आयुक्त उदय माहूरकर ने पढ़े कसीदे

उन्होंने आरोप लगाया, 'उप्र में शैक्षिक भ्रष्टाचार के चरम पर है।’’  यादव ने कहा, 'बेरोजगारों का इंकलाब होगा, बाइस में बदलाव होगा!' बसपा प्रमुख मायावती ने अपने ट्वीट में कहा, 'जिस प्रकार सपा सरकार में नकल आम बात होती थी, उसी प्रकार भाजपा सरकार में भी पेपर लीक होने से यूपी में शिक्षकों की भर्ती के लिए आज की उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) का रद्द हो जाना अति-गंभीर मामला है। करीब 21 लाख परीक्षार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ उचित नहीं।’’  

पंजाब में टंकी पर विरोध-प्रदर्शन कर रही बेरोजगार महिला टीचर को मनाने पहुंचे केजरीवाल

उन्होंने कहा, 'यूपी सरकार इस ताजा घटना को पूरी गंभीरता से लेकर इसकी अति-शीघ्र उच्च-स्तरीय जाँच कराए जाने एवं दोषियों को सख्त कानूनी सजा सुनिश्चित करे तथा आगे यथाशीघ्र इस परीक्षा को सुचारू रूप से कराने की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित करे, बीएसपी की यह माँग है।’’ गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में रविवार को होने वाली उप्र अध्यापक पात्रता परीक्षा परीक्षा -2021 का प्रश्न पत्र लीक होने की वजह से स्थगित कर दी गई और पुलिस ने इस मामले में प्रश्न पत्र लीक करने वाले गिरोह के 23 सदस्यों को राज्?य के विभिन्?न जिलों से गिरफ्तार किया है। यह परीक्षा राज्?य के सभी 75 जिलों के 2,736 परीक्षा केंद्रों पर होनी थी और इसमें 19 लाख 99 हजार 418 परीक्षार्थियों को शामिल होना था।      

दलित हत्याकांड : अखिलेश का शाह पर कटाक्ष- उम्मीद है ये अपराधी बिना चश्मे के भी दिख जाएंगे

 


 

comments

.
.
.
.
.